मोदी सरकार के बहुप्रतीक्षित बजट का पूरा विवरण..जानिए क्या रही आज सरकार की घोषणा

मोदी सरकार ने अपना आख़िरी बजट आज पेश कर दिया है. वित्त मंत्री अरुण जेटली की गैरमौजूदगी में पीयूष गोयल ने बजट पेश किया. मोदी सरकार के इस आख़िरी बजट में गांव, गरीब, किसानों, मजदूरों के लिए कई बड़े ऐलान किए. इसमें लंबे समय से प्रतिक्षित आयकर में छूट का ऐलान किया. इस बजट में लगभग हर तबके को कुछ न कुछ देने का ऐलान किया है.

मोदी सरकार के आखिरी बजट की महत्वपूर्ण घोषणाएं–

  • आयकर की सीमा 2.5 लाख से बढ़ाकर 5 लाख की गई. अब 5 लाख तक की आय वालों पर नहीं लगेगा कोई टैक्स
  • डेढ़ लाख निवेश करने पर कोई टैक्स नहीं
  • महिलाओं के लिए 40 हजार तक के ब्याज पर कोई TDS नहीं
  •  ग्रेजुएटी भुगतान की सीमा 10 से 20 लाख
  • उज्जवला योजना के तहत आठ करोड़ गैस कनेक्शन का लक्ष्य
  • 2 हेक्टेयर से कम खेती वाले किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि  के तहत वर्ष में मिलेंगे 6 हजार रूपये. किसानों के खाते में सीधे भेजी जायेगी रकम
  • गायों की नस्ल में सुधार के लिए राष्ट्रीय कामधेनु योजना शुरू करेगी सरकार, गायों के लिए 750 करोड़ के बजट की व्यवस्था
  • पशुपालन तथा मत्स्य पालन के लिए ब्याज में 2% तक की छूट
  • घर खरीदने पर जीएसटी घटाने पर फैसला विचाराधीन, जीएसटी काउंसिल लेगी फैसला
  •  हरियाणा में खुलेगा एम्स
  • रक्षा बजट बढ़ाकर 3 लाख करोड़ से ज्यादा किया गया. ये रक्षा बजट अब तक का सबसे ज्यादा बजट है.
  • – वन रैंक वन पेंशन के लिए 35 हजार करोड़ का बजट
  • इसी साल से लागू होगी पीएम श्रमयोगी मानधन योजना, 10 करोड़ मजदूरों को मिलेगा लाभ
  • पीएम श्रम योगी मान धन योजना को मंजूरी, श्रमिकों की मौत पर 6 लाख रुपये मिलेंगे, 15 हजार कमाने वालों को मिलेगा लाभ
  • 21 हजार वेतन वालों को 7 हजार रुपये बोनस मिलेगा
  • मजदूरों के लिए 3 हजार रुपये मासिक पेंशन
  • भारत उपग्रह प्रक्षेपण का बड़ा केंद्र बना है, 2022 तक पूर्ण स्वदेशी उपग्रह भेजेंगे
  • 2019-20 में वित्तीय घाटा GDP का 3% रहने का अनुमान
  • हम 8 साल में 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेंगे
  • 2022 से पहले मिशन गगनयान पूरा करेगी सरकार
  • नोटबंदी से 1 लाख 36 हजार करोड़ रुपये का टैक्स मिला
  • अगले 5 साल में 1 लाख डिजिटल गांव बनेंगे
  • ब्रॉडगेज पर सभी मानव रहित क्रॉसिंग खत्म की गईं
  • नरेंद्र मोदी ने देश को मजबूत सरकार दी है, 2022 तक सरकार सबको घर देगी
  • तीन बैंकों बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स से पीसीए की रेस्ट्रिक्शन हटा दी गई हैं. यानी पीसीए से बाहर करने पर इन बैंकों के कर्ज़ बांटने पर लगे प्रतिबंध हट गये हैं.
Share This Post