बाला साहेब जयंती विशेषांक- एकतरफा बढ़ती आबादी के खतरे को बहुत पहले भाँप गए थे ठाकरे जी. 2007 की रैली में उन्होंने कहा था “हरा जहर”

एकतरफा बढ़ रही आबादी के खतरे को जिस प्रकार से राष्ट्रनिर्माण संस्था के अध्यक्ष श्री सुरेश चव्हाणके जी लगातार देश ही नही बल्कि विदेशों के कोने कोने में बता रहे हैं उसको इस से पहले भी कई महान व्यक्तियों ने प्रमुखता के साथ न सिर्फ उठाया है बल्कि उस पर प्रभावी नियंत्रण की मांग व जरूरत पर बल भी दिया है ..निश्चित तौर पर हिंदुस्थान में हिंदुओं की तेजी से कम हो रही आबादी एक ऐसे चिंता का विषय है जिसका समाधान सिर्फ और सिर्फ एक कठोर जनसँख्या नियंत्रण कानून को लागू करवा कर ही किया जा सकता है ..इसी के चलते ही श्री सुरेश चव्हाणके जी ने समूचे भारत की परिक्रमा की थी और पूरे देश मे उसके बाद ही जनप्रतिनिधियों के साथ जनता में भी इस कानून के लिए चेतना आई और अब ये मांग राष्ट्रव्यापी आंदोलन बनती जा रही है ..

फिलहाल चर्चा हो रही है हिन्दू हृदय सम्राट बाला साहब ठाकरे जी की..महराष्ट्र में सोते हिंदुओं को झकझोर कर जगाने वाले ठाकरे जी धीरे धीरे बन गए थे पूरी दुनिया के हिंदुओं के आदर्श.. तुष्टीकरण की आंधी में भगवा वस्त्र लपेट कर और हाथों में रुद्राक्ष ले कर उन्होंने जो कुछ भी किया वो शायद ही कोई और कर पाए ..हिंदुओं की चिंता करते हुए ही उन्होंने अपने प्राण त्यागे थे .. उन्हें एहसास था हिंदुओं पर भविष्य में आने वाली हर आफत का और हिन्दू समाज के खिलाफ रची जा रही तमाम साजिशों का भी ..इसीलिए उनके तमाम बयान घोषित कर दिए गए थे विवादित ..कुछ ऐसे बयान भी रहे हैं जिन पर उनको कानूनी कार्यवाही का भी सामना करना पड़ा था लेकिन वो जरा सा भी नही झुके ..यहां तक कि उनकी हिंदुत्व की छवि के चलते ही सोनिया गांधी प्रणव मुखर्जी को साफ आदेश देती रहीं की वो उन से न मिलें..

उनके पिता केशव ठाकरे एक समाज सुधारक और पत्रकार थे, जिन्हें प्रबोधनकार के नाम से भी जाना जाता था, क्योंकि उनके पिता ने प्रबोधन नामक एक पत्रिका निकाली थी। केशव ठाकरे ने एक एकीकृत मराठी मुंबई की संकल्पना की थी। उनके इसी दृष्टिकोण को बाल ठाकरे अगले स्तर तक लेकर गए.. बचपन में ही उन्होंने अपनी मां खो को दिया और परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़ दिया  था..उन्होंने जॉर्ज फर्नांडिस और अन्य 4 या 5 लोगों के साथ एक दैनिक – न्यूज़ डे शुरु किया। हालांकि, जो कुछ महीनों तक ही चल सका.. पर हौसले की मजबूती  किसको कहते हैैं इसे बाद में दुनिया ने देखा ..

वर्ष 1967 के ठाणे नगर परिषद चुनाव में शिवसेना ने अपनी पहली जीत दर्ज की। जिसके चलते पार्टी का अगले 10 वर्षों में काफी प्रसार हुआ। वर्ष 1989 में, उन्होंने शिवसेना के मुखपत्र “सामना” को प्रकाशित किया।वर्ष 1992 के दंगों के बाद, ठाकरे ने उन्मादी व दंगाई मुसलमानों के खिलाफ  हिन्दू समाज  को एक किया.  हिंदूत्ववादी विचारधारा अपनाई, जिससे उनकी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के काफी निकट आ गई। शिवसेना-भाजपा गठबंधन ने वर्ष 1995 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव जीता और वर्ष 1995 से 1999 तक सत्ता में रही। जिसके चलते सरकार में, ठाकरे ने स्वयं को रिमोट कंट्रोल मुख्यमंत्री घोषित किया।

श्रीकृष्ण आयोग की रिपोर्ट ने वर्ष 1992-1993 के दंगों को उकसाने के लिए ठाकरे और शिवसेना को दोषी ठहराया था। इस आयोग के मुखिया एक बेहद सेकुलर प्रवित्ति की मानसिकता के थे.. वही सेकुलरिज़्म जिसका आज भी कई जगहों पर बोलबाला है ..28 जुलाई 1999 को, चुनाव आयोग ने 11 दिसंबर 1999 से 10 दिसंबर 2005 तक हिन्दू धर्म के नाम पर वोट मांगने के लिए बाल ठाकरे को दोषी पाते हुए, उन पर 6 वर्षों तक किसी भी चुनाव में मतदान करने और चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगा हुआ था। जबकि आज भी तमाम के मुंह से M + Y या D + M आदि समीकरण बनाते देखा जाता है..इतना ही नही, ओवैसी जैसे उन्मादी खुल कर मुुुसलमान के नाम पर वोट मांगते हैैं.. लेकिन उनका ये कृत्य धर्मनिरपेक्षता केे सिद्धांत पर फिट पाया जाता है..

वह पाकिस्तान के कट्टर आलोचक थे। जिसके चलते वर्ष 1998 में, उन्होंने गुलाम अली के एक गजल समारोह को बाधित कर दिया था। वर्ष 2007 में, दैनिक अख़बार के एक साक्षात्कार में हिटलर की प्रशंसा करने के लिए उन्हें कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। वर्ष 2007 में, शिवसेना रैली के दौरान उन्होंने मुस्लिमो को “हरा जहर” के रूप में परिभाषा दी, जिसके चलते उन्हें गिरफ्तार भी किया गया। यद्द्पि आज कुछ लोगो द्वारा पाकिस्तान के पक्ष में नारे लगाना और अपने ही सैनिको पर पत्थर मारना अभिव्यक्ति की आज़ादी के रूप में गिना जाता है.. उन्होंने तेजी से बढ़ते उन्मादियों से देश के राष्ट्रभक्तों को सतर्क करते हुए कहा था कि अगर इन्हें नही रोका गया तो ये पहले मुंबई को, फिर महाराष्ट्र को और बाद में देश तक को निगल जायेगे..जिसका पाप चुप बैठे लोगों को लगेगा ..

 

Share This Post