भारतीय सेना की बंदूकों से दहल उठा आतंकी मुल्क पाकिस्तान… मार गिराए 12 पाकिस्तानी सैनिक

19 सितंबर को पूरा भारत उस समय आक्रोश से भर उठा था जब खबर मिली कि आतंकी मुल्क पाकिस्तान ने BSF के जांबाज जवान नरेंद्र सिंह को अगवा कर उनकी तड़पा-तड़पा कर ह्त्या कर दी थी. उनको करेंट लगाया था, उनकी आँख निकाल ली थी. उसी समय केंद्र सरकार तथा भारतीय सेना ने देशवासियों को भरोसा दिलाया था कि नरेंद्र सिंह की शहादत बेकार नहीं जायेगी तथा दोगुनी ताकत से पाकिस्तान से इसका बदला लिया जाएगा. और आज जब भारत सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ को पराक्रम दिवस के रूप में मना रहा है उस समय खबर मिली है कि भारतीय सेना ने BSF के जवान के साथ हुई बर्बरता का बदला लेते हुए एक और सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कार्यवाही को अंजाम दिया है तथा नियंत्रण रेखा (एलओसी) पार जाकर कम से कम 12 पाकिस्तानी रेंजर्स को मार गिराया है. यह दावा सीमा सुरक्ष बल के महानिदेशक के के शर्मा ने किया है.

आपको बता दें कि इससे पहले केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह ने मुजफ्फरनगर के शुक्रतीर्थ में कारगिल शहीद स्मारक पर शहीद भगत सिंह की प्रतिमा के अनावरण के अवसर पर आयोजित राष्ट्रीय सैनिक संस्था के कार्यक्रम में कहा था कि पिछले दिनों पाकिस्तानी सेना ने नापाक हरकत करते हुए बीएसएफ के जवान के साथ बदसलूकी की थी लेकिन शायद आप लोगों ने देखा होगा कि कुछ हुआ है. मैं बताऊंगा नहीं क्योंकि बताया नहीं जाता है लेकिन कुछ हुआ अहै, बहुत कुछ हुआ है तथा BSF जवान के साथ हुई बर्बरता का बदला मेरे देश की सेना ने लिया है. गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह के बयान के बाद अब BSF के डीजी केके शर्मा ने भी साफ़ कर दिया है कि उनके जवान के साथ जो कुछ किया गया था उसका बदला उनकी सेना ले चुकी है.

BSF के महानिदेशक केके शर्मा ने शुक्रवार को बताया कि दो दिन पहले एलओसी पर बीएसएफ ने सेना की मदद से भीषण कार्रवाई को अंजाम दिया. इसमें पाकिस्तानी सेना और रेंजर्स के कम से कम 11 जवान मार गिराए गए हैं, इसकी संख्या अधिक भी हो सकती है. शर्मा के मुताबिक, 19 सितंबर की घटना के बाद बीएसएफ की जवाबी कार्रवाई के डर से पाकिस्तानी सेना ने आईबी पर अपनी सीमा के पांच किमी का इलाका खाली कर दिया था. इससे बीएसएफ आईबी पर कोई कार्रवाई नहीं कर पा रही है लेकिन इसके बाद भी जवान के साथ हुई बर्बरता का बदला लिया जा चुका है. इसके साथ ही BSF के डीजी ने ये भी कहा कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर दो दिन पहले हुई इस पहली जवाबी कार्रवाई के बाद भारतीय सेना पाकिस्तानी सेना और पाक रेंजर्स के खिलाफ अगली कार्रवाई की भी पूरी तैयारी में है तथा आने वाले समय में इसका परिणाम देखने को मिलेगा.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *