शाही अंदाज में वापस आया भारत का वीर अभिनंदन.. हिमालय से भी ज्यादा दृढ़ता राष्ट्रवादियों की बनी प्रेरणा

भारत का महानायक, शूरवीर अभिनंदन आखिरकार भारत मे वापस लौट आया है..राष्ट्र के लिए ये किसी दिवाली के पर्व से कम किसी भी हालत में नही कहा जा सकता है क्योंकि भारत के हर राष्ट्रवादी के दिल से बस एक ही आवाज निकल रही थी और वो थी कि उनको उनका नायक वापस चाहिये.. ये भारत की सरकार की दृढ़ता थी जो बिना किसी झुकाव के अपने आत्मसम्मान व राष्ट्र के स्वाभिमान को बचाते हुए राष्ट्र के उस नायक को अपने देश मे वापस बुला लिया ..

जैसे ही वाघा सीमा से अभिनंदन ने भारत मे कदम रखा वैसे ही देश के तमाम देशभक्तो की आंखों से आंसू निकल आये..ये वो पल था जिस पल का अभिनंदन हर कोई कर रहा था..यही वो राष्ट्र नायक है जिसने गिले शिकवे और आपसी मतभेद भुला कर देश को पूरब से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण तक एक सूत्र में पिरो दिया ..अभिनंदन को पाकिस्तानी सेना लाहौर ले गयी थी जहां से उनके तमाम वीडियो भी जारी हुए थे.. इस मौके पर तमाम जनमानस को नरेंद्र मोदी की दृढ़ता को भी धन्यवाद देते हुए देखा गया जिन्होंने पाकिस्तान के आगे खुद को या देश के स्वाभिमान को जरा सा भी नही झुकने दिया..

दुश्मन की कैद में अभिनंदन की दृढ़ता वो आदर्श प्रस्तुत कर गई जो सदा सदा के लिए एक इतिहास बन गयी.. राष्ट्र के इस महानायक ने एक पल भी विचलित हुए बिना अपना सैनिक नम्बर और अपना परिचय देते हुए खुद को हिन्दू बताया था .. इस से ज्यादा सवाल जवाब करने पर उन्होंने पाकिस्तानी सेना को साफ साफ मना कर दिया था और कहा था कि वो इस से ज्यादा महि बता सकते..इतना ही नही, अपने संस्कारो का परिचय देते हुए अभिनंदन ने एक चाय तक के लिए उन्हें धन्यवाद बोला था..आज राष्ट्र के तमाम राष्ट्रभक्तो के चेहरे पर मुस्कान है और वो सभी के सभी अपनी हीरो को देखने के लिए उतावले थे..

Share This Post