अगर नहीं समझा हिंदु तो पाकिस्तान से बदतर होगे हालात – केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

बढ़ती जनसंख्या वृद्धि भारत देश में एक गंभीर समस्या बन चुकी है । जिससे निजात पाने के लिए सुर्दशन न्यूज चैनल ने भी इसके खिलाफ आवाज उठाते हुए कहा है कि हम दो हमारे दो तो सबके दो इसके लिए एक कानून बनना चाहिए । और अब लगता है कि सरकार तक भी सुर्दशन चैनल की गुज पहुंच गई है। जिसके कारण खुद केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी जनसंख्या वृद्धि पर रोक लगाने के लिए अपना सुझाव दिया है।

आपको बता दे कि केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि अगर हिंदु समय रहते सचेत नहीं हुए , तो जो हाल हिंदुओं का पाकिस्तान में हुआ है वही हाल 25 साल बाद भारत में भी हो जाएगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हिन्दुओं को जाति और गोत्र से ऊपर उठना होगा, तभी सनातन धर्म और हिंदुत्व बचेगा। भारत की संस्कृति को बचाना है, तो हमें कसम खाना होगा कि आज के बाद घर में मोमबती जलाकर नहीं बल्कि मंदिर में दीप जलाकर बच्चे का जन्मदिन मनाया जाएगा।

किसी राजनीतिक दल का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि रोहिंग्या मुसलमान पर आंसू बहाने वाले लोग भी हैं। ऐसे लोगों से बचना होगा।
देश को कट्टरपंथी मजहबियों से बचाने के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून लाना बेहद जरूरी है। चीन में प्रति मिनट 11 बच्चे पैदा होते है जबकि भारत में प्रति मिनट 29 बच्चे जन्म ले रहे है। इसके लिए एक कानून बनना बेहद ही जरूरी हो गया है।

बता दे कि गोपालगंज में वेयर हाउस के उद्घाटन के दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में हिंदुओं की जनसंख्या कम होने पर सामाजिक समरसता को चोट पहुंची है। कांग्रेस पिछले 70 सालों से देश पर अत्याचार कर रही है। साथ ही हज सब्सिडी के खत्म होने पर बिफरे मजहबियों को जवाब देते हुए उन्होंने कहा पहले वोट की राजनीति के कारण इसे समाप्त नहीं किया गया था।

लेकिन अब सब्सिडी का 700 करोड़ रुपया अल्पसंख्यक बच्चियों की शिक्षा पर व्य्य किया जाएगा।
केंद्रीय मंत्री ने मदरसा शिक्षा पर निशाना साधते हुए कहा कि मदरसा में शिक्षा के नाम पर छात्रों को कट्टरपंथी और आतंक का पाठ पढ़ाया जाता है। साथ ही सिद्धरमैया द्वारा अपने को पांडव बताने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अगर सिद्धरमैया में हिम्मत है तो राहुल गांधी के साथ राम जन्मभूमि के लिए आगे बढ़ें।

Share This Post

Leave a Reply