भाजपा सांसद के बयान से चौंक गया देश… बोलीं- अयोध्या में श्रीराम मंदिर नहीं बल्कि बौद्ध मंदिर बने

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए तेज होती मांग के बीच सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी की सांसद ने अनोखा बयान दिया है. भाजपा सांसद ने कहा है कि अयोध्या में श्रीराम का मंदिर नहीं बल्कि तथागत बौद्ध का मंदिर बनना चाहिए. अयोध्या में श्रीराम मंदिर की जगह बौद्ध मंदिर की मांग की है उत्तर प्रदेश के बहराइच से भारतीय जनता पार्टी की सांसद सावित्री बाई फुले ने. भाजपा सांसद की इस मांग से पूरा देश चौंक गया है क्योंकि भाजपा हमेशा से श्रीराम मंदिर निर्माण के प्रति प्रतिबद्ध रही है, ऐसे में भाजपा सांसद का बयान पार्टी को असहज करने वाला है.

भाजपा सांसद सावित्री बाई फूले ने कहा कि अयोध्या में श्रीराम के मंदिर के स्थान पर महात्मा बुद्ध का मंदिर बनाना चाहिए. उन्होंने इस पर तर्क दिया कि सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक अयोध्या में साक्ष्यों के तौर पर भगवान बुद्ध के प्रमाण मिले थे. गोंडा जंक्शन पर गोंडा बहराइच बड़ी रेललाइन के शुभारंभ के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी की बहराइच सांसद सावित्री बाई फूले ने कहा कि अयोध्या में श्रीराम के मंदिर के स्थान पर महात्मा बुद्ध मंदिर बने तो अच्छा होगा. सावित्री बाई फूले ने कहा कि उच्च न्यायालय के मुताबिक अयोध्या मे साक्ष्यों के तौर पर भगवान बुद्ध के प्रमाण मिले थे.

उन्होंने कहा कि हाई कोर्ट के आदेश पर अयोध्या में जब विवादित स्थल पर खुदाई की गई थी तो वहां तथागत के अवशेष मिले थे इसलिए अयोध्या में गौतम बुद्ध की प्रतिमा स्थापित हो. उन्होंने कहा कि भारत बुद्ध का था. अयोध्या भी बुद्ध का स्थान था तो अयोध्या में तथागत गौतम बुद्ध की मूर्ति की स्थापना होनी चाहिए. वहां पर महात्मा बुद्ध की मूर्ति तथा बौद्ध मंदिर का निर्माण होना चाहिए. संघ के प्रचारक एवं राज्य सभा सदस्य राकेश सिन्हा द्वारा राम मंदिर निर्माण के पक्ष में एक निजी विधेयक लाए जाने संबंधी सवाल पर पार्टी सांसद ने कहा कि भारत का संविधान धर्म निरपेक्ष है, जिसमें सभी धर्मों की सुरक्षा की गारंटी दी गई है. संविधान के तहत ही देश चलना चाहिए. सांसद या विधायक को भी संविधान के तहत ही चलना चाहिए.

Share This Post

Leave a Reply