Breaking News:

अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ी खबर… संसद के शीतकालीन सत्र में लाया जाएगा बिल

अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण को लेकर मचे घमासान के बीच बड़ी खबर आ रही है कि संसद के आगामी शीतकालीन सत्र में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए बिल लाया जा सकता है. अयोध्या श्रीराम मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जनवरी तक टालने के बाद बीजेपी नेता ने बड़ा कदम उठाने का फैसला किया है. राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ करने के लिए संसद में बिल लाएंगे. बीजेपी के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा राज्यसभा में प्राइवेट मेंबर बिल पेश करेंगे. याद रहे कि सुनवाई टलने के बाद संतों, पार्टी समर्थकों-कार्यकर्ताओं और कुछ सहयोगी पार्टी की तरफ से मांग उठ रही थी कि सरकार कानून बना कर मंदिर बनाने का रास्ता साफ करे.

बीजेपी से राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने कहा हैं कि वह संसद के शीत सत्र में अयोध्या में राममंदिर के निर्माण के लिए प्राइवेट बिल लायेंगे.  बिहार के बेगूसराय जिले के रहने वाले राकेश सिन्हा आरएसएस के विचारक हैं और दिल्ली विश्वविद्यालय में असिटेंट प्रोफ़ेसर भी रह चुके हैं. गौरतलब है कि 29 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर की सुनवाई की तारीख अगले साल जनवरी में तय करने की बात कही उससे हिन्दुओ में बेहद आक्रोश हैं. हिन्दुओं को लगता हैं की कोर्ट इस मामले को जानबूझकर लटका रही हैं. इसलिए लोग सरकार से राम मंदिर के निर्माण के लिए कानून लाने की मांग कर रहे हैं. जिसकी वजह से सरकार पर भी दबाव बनने लगा हैं.

एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में एंकर के प्रश्न के जवाब में भाजपा सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि  वह इस बार शीत सत्र में राम मंदिर निर्माण के लिए ‘प्राइवेट मेम्बर बिल’ लाएंगे. इस बिल पर उन्होंने विपक्षी पार्टियों का भी सहयोग माँगा. उन्होंने कहा मन्दिर तो 1992 में रामजन्मभूमि आंदोलन के ही समय हिन्दुओ ने विवादित ढांचे को गिराकर वहाँ बना दिया था, अब बात उस मन्दिर को भव्य बनाने की हैं और यह किसी मे ताकत नही की वहाँ बने हुए मन्दिर को कोई हटा सके.

इसके अलावा राकेश सिन्हा ने आज सुबह ट्वीट करके कहा कि “अगर मैं राज्यसभा में राम मंदिर पर प्राइवेट मेंबर बिल लाता हूं तो क्या कांग्रेस उस बिल का समर्थन करेगी?”राकेश सिन्हा ने ट्वीट में लिखा, ‘जो लोग बीजेपी और संघ को उलाहना देते रहते हैं कि राम मंदिर की तारीख बताएं, उनसे सीधा सवाल है कि क्या वे मेरे प्राइवेट मेंबर बिल का समर्थन करेंगे? समय आ गया है दूध का दूध पानी का पानी करने का।’ उन्होंने इस ट्वीट में राहुल गांधी, अखिलेश यादव, सीताराम येचुरी, लालू प्रसाद यादव और चंद्रबाबू नायडू को इस ट्वीट में टैग भी किया।  राकेश सिन्हा यहीं नहीं रुके। उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा, ‘आर्टिकल 377, जलिकट्टू और सबरीमाला पर फैसला देने में सुप्रीम कोर्ट ने कितने दिन लगाए? लेकिन दशकों दशक से अयोध्या प्राथमिकता में नहीं है। यह हिंदू समाज के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता में है।’ अगले ट्वीट में फिर उन्होंने राहुल गांधी, येचुरी और लालू को टैग करने के साथ मायावती का जिक्र करते हुए लिखा कि जो तारीख पूछते थे अब उनपर जिम्मेदारी है कि बताएं बिल का समर्थन करेंगे या नहीं?

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *