आखिर क्यों गिरिराज सिंह को कहना पड़ा कि देश बढ़ रहा है एक और बंटवारे की राह पर

सुदर्शन न्यूज़ काफी पहले से देश को बताता रहा है कि अगर समय रहते हिंदुस्तान में जनसंख्या नियंत्रण क़ानून नहीं बना तो देश में 1947 जैसी स्थिति पैदा होगी तथा मजहब के आधार पर देश का एक और बंटवारा होगा. अपनी इस मुहिम को लेकर सुदर्शन टीवी के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी ने भारत बचाओ यात्रा भी निकाली थी. अब सुदर्शन न्यूज़ की इस इस मुहिम को आपने शब्द दिए हैं भारतीय जनता पार्टी के फायरब्रांड नेता तथा मोदी सरकार में केन्द्रीय मंत्री श्री गिरिराज सिंह ने. गिरिराज सिंह ने कहा है कि देश एक और बंटवारे की राह पर है.

केंद्रीय मंत्री गिर‍िराज सिंह ने देश की बढ़ती आबादी को लेकर बड़ा जो बयान दिया है उस पर विवाद पैदा हो गया है तथा राजद व कांग्रेस ने मंत्री जी की आलोचना की है. गिरिराज सिंह ने कहा कि देश में एक ‘खास समुदाय’ की जनसंख्‍या बढ़ती जा रही है, जबकि हिन्‍दुओं की आबादी गिर रही है. उन्‍होंने चेताया कि अगर इसी तरह जारी रहा तो एक बार फिर देश को विभाजन का सामना करना पड़ सकता है. यूपी के अमरोहा में एक कार्यक्रम में गिरिराज ने कहा कि अगर इसी तरह एक ‘खास समुदाय’ की जनसंख्‍या बढ़ती रही तो देश में न विकास होगा और न ही किसी तरह की सामाजिक समरसता बचेगी. उन्‍होंने उत्‍तर भारत के 54 जिलों में जनसांख्यिकी में बड़े बदलाव का दावा करते हुए कहा कि यहां हिन्‍दुओं की आबादी लगातार गिर रही है.

जनसंख्‍या नियंत्रण कानून का पुरजोर समर्थन करते हुए गिरिराज ने कहा कि अगर इसी तरह जारी रहा तो 1947 में जिस तरह भारत के दो टुकड़े हो गए थे और पाकिस्‍तान अस्तित्‍व में आया, उसी तरही की परिस्‍थति का सामना देश को एक बार फिर 2047 में करना पड़ सकता है. केंद्रीय केंद्रीय लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योग मंत्री ने गिरिराज सिंह ने आज अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा कि 1947 में धर्म के आधार पर ही देश का विभाजन हुआ वैसी ही परिस्थिति पुनः 2047 तक होगी। 72 साल में जनसंख्या 33 करोड़ से बढ़कर 135.7 करोड़ हो गयी है. विभाजनकारी ताकतों का जनसंख्या विस्फोट भयावह है। अभी तो 35A के बहस पर हंगामा हो रहा है. आने वाले वक्त में तो एक भारत का जिक्र करना असंभव होगा.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *