Breaking News:

एक औरत को मौत क्यों नहीं दी ? इस पर उबल रहा है पाकिस्तान

पाकिस्तान में कट्टरपंथी किस कदर हावी हैं इसकी पाकिस्तान में इस समय देखने को मिल रही है. पूरा पाकिस्तान इस समय इसलिए उबल रहा है तथा सड़कों पर आंदोलित है कि आखिर एक ईसाई महिला को मौत की सजा क्यों नहीं दी गई. आपको बता दें कि ईसाई महिला आसिया बीबी को ईशनिंदा के आरोप से पाकिस्तान के कोर्ट ने बरी कर दिया है तथा उसकी मौत की सजा को माफ़ कर दिया है. इसके बाद पाकिस्तान में जबर्दस्त हंगामा देखने को मिल रहा है तथा पाकिस्तानी कट्टरपंथी किसी भी हालात में आसिया बीबी को मौत की सजा चाहते हैं.

पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट द्वारा आसिया बीबी की सजा माफ़ करने का फैसला आते ही इस्लामाबाद, लाहौर, पेशावर और कराची समेत अन्य शहरों पर ‘तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान’ (TLP) के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए और कई सड़कों को जाम कर दिया. कई जगह आगजनी और सुरक्षा बलों के साथ झड़प की भी खबरें हैं. पाकिस्तानी टीवी जियो के मुताबिक पाकिस्तान के पंजाब, सिंध और बलोचिस्तान में सुरक्षा व्यवस्था बिगड़ने पर 31 अक्टूबर से लेकर 10 नवंबर तक धारा 144 लगा दी गई. आसिया बीबी को ईशनिंदा मामले में बरी किए जाने पर पाकिस्तान के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा को गैर मुस्लिम बताया जा रहा है और सेना के खिलाफ बगावत के लिए उकसाया जा रहा है. इसके अलावा पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट के जजों की हत्या करने की धमकी दी जा रही है.

बुधवार को पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने अपने ऐतिहासिक फैसले में ईशनिंदा की दोषी ईसाई महिला आसिया बीबी की फांसी की सजा को पलटते हुए उसे बरी कर दिया था, जिसके बाद देशभर में विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गए. अपने पड़ोसियों के साथ विवाद के दौरान इस्लाम का अपमान करने के आरोप में साल 2010 में चार बच्चों की मां आसिया बीबी को दोषी करार दिया गया था. उन्होंने हमेशा खुद को बेकसूर बताया. पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश साकिब निसार की अगुवाई वाली शीर्ष अदालत की तीन सदस्यीय पीठ ने बुधवार को फैसला सुनाया. निसार ने फैसले में कहा, ‘याचिकाकर्ता की तरफ से कथित ईशनिंदा मामले में अभियोजन की तरफ से पेश साक्ष्य को ध्यान में रखते हुए यह स्पष्ट है कि अभियोजन अपने मामले को साबित करने में विफल रहा है.’ उन्होंने कहा कि आसिया बीबी अगर अन्य मामलों में वांछित नहीं हैं तो लाहौर के निकट शेखुपुरा जेल से उन्हें तुरंत रिहा किया जा सकता है.

आसिया बीबी का रिहा होना तथा मौत की सजा माफ़ कर देना पाकिस्तानी कट्टरपन्थीए लोगों को रास नहीं आ रहा है. कट्टरपंथी सड़क पर उतर कर एकतरफ जहाँ पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट के जजों की ह्त्या की धमकी दे रहे हैं वहीं पाकिस्तान आर्मी चीफ कमर जावेद वाजवा को गैर मुस्लिम बताकर पाकिस्तानी सैनिकों को पाक आर्मी चीफ के खिलाफ बगावत के लिए उकसाया जा रहा है. फिलहाल पाकिस्तान के हालात काफी तनावपूर्ण हैं तथा कई इलाकों में कर्फ्यू लगा हुआ है.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *