अगर हिन्दू हो तो पाकिस्तान में मिलेगा ऐसा काम… आखिर कहाँ है धर्मनिरपेक्षता भारत के बाहर ?

तथाकथित धर्मनिरपेक्षता तथा मानवाधिकार के नाम पर देश के ही खिलाफ खड़े हो जाने वाले तथाकथित बुद्धिजीवी उस समय मौन हो जाते हैं जब भारत से बाहर के देशों में धर्मनिरपेक्षता के सारे सिद्धांतों को कुचल दिया जाता है. नापाक पड़ोसी मुल्क  पाकिस्तान से एक ऐसी हेई खबर सामने आ रही है लेकिन खामोश हैं वो सब लोग जो डेनमार्क में एक मजहब विरोद्धी कार्टून बनने पर हिंदुस्तान में हंगामा करते हैं. इस खबर के मुताबिक़, अगर आप पाकिस्तान में रहते हैं तथा आप हिन्दू नहीं हैं अर्थात गैर मुस्लिम हैं तो आपको पाकिस्तान में सफाई कर्मचारी बनना पड़ेगा.

सभी जानते हैं कि पाकिस्तान में गैर मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के साथ भेदभाव की खबरें आए दिन सुर्खियों में रहती हैं। अब एक बार फिर ऐसी ही एक खबर आयी है, जिसने पाकिस्तान के गैर मुस्लिम समुदाय को आक्रोशित कर दिया है. आपको बता दें कि पाकिस्तानी सेना के रेंजर्स (सिंध प्रांत) ने भर्ती के लिए एक बड़े अखबार में विज्ञापन दिया है. इस विज्ञापन के अनुसार, पाकिस्तानी रेंजर्स में साफ-सफाई जैसे कामों के लिए विज्ञापन में खास तौर पर “Non Muslim Only” की कंडीशन दी गई है. इस नॉन मुस्लिम कंडीशन पर ही विवाद हो गया है और पाकिस्तान के अल्पसंख्यक समुदाय ने इस पर गहरी नाराजगी जाहिर की है. पाकिस्तानी सेना में नौकरी ले इस विज्ञापन से पाकिस्तान ने अपनी मंशा साफ़ जाहिर कर दी है कि अगर आप गैर मुस्लिम हैं तो पाकिस्तान में आपकी जगह के सफाई वाले की है.

यह विज्ञापन पाकिस्तान के मशहूर अखबार DAWN में 26 अगस्त को पब्लिश किया है. इस विज्ञापन में विभिन्न भर्तियों की लिस्ट दी गई है, जो कॉम्बेट और नॉन कॉम्बेट दोनों ही श्रेणी की हैं. हालांकि इस सभी नौकरियों में से सिर्फ सफाईकर्मी, जूते बनाने वाली जैसी नौकरियां सिर्फ अल्पसंख्यकों के लिए रखी गई हैं. पाकिस्तान में एक अल्पसंख्यक मानवाधिकार कार्यकर्ता कपिल देव ने इस विज्ञापन की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की है, जिस पर लोग जमकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. कपिल देव ने इस भेदभाव वाले विज्ञापन की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा है कि पाकिस्तान में सफाईकर्मी की नौकरी के लिए योग्यता ‘नॉन-मुस्लिम’ होनी चाहिए!! आपका काम सिर्फ गंदगी फैलाना है और हमारा केवल सफाई करना.

Share This Post

Leave a Reply