लाखों रोहिंग्या के धर्मांतरण की आहट.. जिस पोप के आगे ट्रम्प भी झुके वो धो रहे रोहिंग्या के पैर

सलीब पर चढ़ाए गए ईसा मसीह को याद करने के मौके पर कैथोलिक गिरजे के प्रमुख पोप फ्रांसिस ने हिंदू, मुसलमान और ईसाई रिफ्यूजियों के पांव पखारे. पैरों को चूम कर पोप ने दिया ईश्वर की नजर में सभी के समान होने का संदेश. इटली में शरण पाने की आस लगाए लोगों से मिलकर गुड फ्राइडे के मौके पर उनका स्वागत करने और पूरी मानवता के लिए भाईचारे का संदेश देने के मकसद से पोप फ्रांसिस ने ना केवल कुछ लोगों के पांव धोए बल्कि उन्हें चूमा भी.

ब्रसेल्स में हुए आतंकी हमले के बाद यूरोप में मुसलमानों के प्रति बढ़ती दुर्भावना के सामने पोप ने प्रेम का संदेश रखा है.

आपको बता दे कि इटली में शरण पाने की आस लगाए लोगों से मिलकर गुड फ्राइडे के मौके पर उनका स्वागत करने और पूरी मानवता के लिए भाईचारे का संदेश देने के मकसद से पोप फ्रांसिस ने ना केवल कुछ लोगों के पांव धोए बल्कि उन्हें चूमा भी. ब्रसेल्स में हुए आतंकी हमले के बाद यूरोप में मुसलमानों के प्रति बढ़ती दुर्भावना के सामने पोप ने प्रेम का संदेश रखा है.

आपको ये भी बता दे कि फ्रांसिस ने मार-काट की निंदा करते हुए उसे युद्ध की मुद्रा ठहराया और कहा कि हथियार उद्योग द्वारा लोगों को खून का प्यासा बनाया जा रहा है। उन्होंने यह बात ईस्टर वीक मास के दौरान रोम के बाहर कासेलनोवो डि पोटरे में एक शरण स्थल में कही।पोप ने कहा कि हम सभी की विभिन्न संस्कृतियां और धर्म है लेकिन हम सभी भाई हैं। साथ ही पोप ने कहा कि हम शांति से रहना चाहते हैं।

Share This Post

Leave a Reply