Breaking News:

खुद बांग्लादेश का मंत्री अवैध रूप से घुसा था भारत में जिसे पकड़ लिया गया था… जानिए फिर क्या हुआ आगे ?

बांग्लादेशी घुसपैठिये भारत को किस कदर संक्रमित कर रहे हैं इसका उदाहरण बंगलादेश का पूर्व मंत्री है जो खुद अवैध तरीके से भारत में चुपके से घुसा था था. बांग्लादेश का पूर्व मंत्री पूर्व मंत्री सलाहुद्दीन अहमद 2015 में बिना उचित दस्तावेज केगैरकानूनी तरीके से मेघालय की राजधानी शिलॉंग में घुसा था. घुसपैठिया सलाहुद्दीन अहमद बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) का नेता हैं. वह पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया के कार्यकाल में संचार मंत्री था.

सलाहुद्दीन अहमद को 11 मई 2011 को मेघालय पुलिस ने गैरकानूनी ढंग से भारत की सीमा में प्रवेश करने को लेकर गिरफ्तार किया था. उन्हें शिलॉन्ग के गोल्फ लिंक इलाके से सुबह के 5:30 बजे गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने इस मामले में कहा था कि, गांव वालों ने उन्हें बताया कि कोई संदिग्ध व्यक्ति इलाके में घूम रहा है. पुलिस ने जब उससे पूछताछ की तो उसने ढंग से कुछ भी नहीं बताया था. इसके बाद पुलिस ने अहमद को मेंटल अस्पताल (एमआईएमएचएएनएस) भेजा दिया, लेकिन जब अस्पताल वालों ने बताया कि वह दिमाग से तंदरुस्त है और उसे किसी तरह का मेंटल परेशानी नहीं है तब उन्हें शिलॉन्ग के सिविल अस्पताल रेफर कर दिया गया.

तीन साल के लंबे ट्रायल के बाद मेघालय की अदालत ने बांग्लादेश के पूर्व मंत्री सलाहुदीन  को बरी कर दिया है तथा उन्हें जल्द बांग्लादेश वापस भेजे जाने के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं. अदालती आदेश के बाद सलाहुदीन के कहा कि उसे सफेदपोश लोगों ने अपहरण कर लिया था, जिन्होंने खुद को कानून लागू करने वाली एजेंसियों से होने का दावा किया था. उन्होंने बताया कि उन्हें मालूम नहीं था कि वे शिलॉन्ग में हैं, क्योंकि उनकी आंखों पर पट्टी बंधी थी.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *