Breaking News:

बहुत छोटा सा देश में ब्राजील लेकिन पूरे अरब जगत को चुनौती देते हुए खड़ा हुआ इजराइल के साथ.. दूतावास भी ट्रांसफर किया

इस्लामिक जगत के सबसे बड़े दुश्मन कहे जाने वाले इजराइल के समर्थन में अब दुनिया खड़ी होने लगी है. इजराइल को अब समर्थन मिला है दुनिया के छोटे से मुल्क ब्राजील का, जिसने पूरे अरब जगत को चुनौती दी है तथा एलान कर दिया है कि वह इजराइल की एकता तथा अखंडता के साथ है तथा वह वह इजराइल में अपने दूतावास को तेल अवीव से येरुशलम स्थानंतरित करेगा. ब्राजील में हाल ही में हुए चुनाव में नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो ने इसकी पुष्टि की. अमेरिका के बाद अपने इजराइली दूतावास को येरुशलम स्थानांतरित करने वाला ब्राजील दूसरा और दक्षिण अमेरिकी महाद्वीप का पहला देश होगा।

समाचार एजेंसी भाषा के अनुसार ब्राजील की सेना के पूर्व कैप्टन ने तेल अवीव से अपना दूतावास यरुशलम ले जाने की घोषणा की है. ब्राजील के नये राष्ट्रपति बोलसोनारो ने रविवार को चुनाव में जीत मिलने के बाद अपने रूढ़िवादी एजेंडा को लागू करने में कोई देरी नहीं की है. बोलसोनारो ने बृहस्पतिवार को ट्वीट किया, ”जैसा कि पहले हमारे प्रचार अभियान में कहा गया था, हम ब्राजील के दूतावास को तेल अवीव से येरुशलम स्थानांतरित करने वाले हैं. इजराइल एक सम्प्रभु देश है और हम सभी को उसका सम्मान करना चाहिए.”

कूटनीतिक की बात करें तो बोलसोनारो के इस कदम से अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ उनकी निकटता बढ़ेगी। इजराइल पूरे यरुशलम को अपनी राजधानी मानता है वहीं फलस्तीनी पूर्वी येरुशलम को भविष्य में अपनी राजधानी के रूप में देखते हैं. इस घोषणा के बाद इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने एक बयान में कहा, ”मैं ब्राजील के दूतावास को यरुशलम स्थानांतरित करने की मंशा पर अपने मित्र ब्राजील के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो को बधाई देता हूं। यह ऐतिहासिक, सही और उत्साहवर्द्धक कदम है।”

गौरतलब है कि अमेरिका की दशकों पुरानी नीति में बदलाव करते हुए इसी साल 14 मई को ट्रंप प्रशासन ने अपने इज़राइली दूतावास को तेल अवीव से यरुशलम ले जाने का फैसला लिया था. अमेरिका द्वारा येरूशलेम में अपना दूतावास स्थापित करने के बाद काफी बवाल हुआ था. जिसके बाद इजराइली सेना की गोलीबारी में बड़ी संख्या में फिलिस्तीनी उन्मादी मारे गये थे.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *