भारतीय इमामों के लिए नामी मुस्लिम विद्वान का ऐसा बयान कि मच गया हड़कंप

भारतीय इमामों के पास खुद का दिमाग नहीं है. अगर भारत के कट्टर इमामों के पास दिमाग होता तो आज वह छुट्टी पर चले गये होते. ये कहना है दुनियाभर में विख्यात ऑस्ट्रेलिया के चर्चित इस्लामिक विद्वान मोहम्मद ताहिदी का. जी हाँ, ऑस्ट्रेलिया के इमाम मोहम्मद ताहिदी ने भारतीय कट्टर इमामों पर टिप्पणी करते हुए कहा है कि भारतीय कट्टर इमामों के पास दिमाग नहीं है.

ईराक से ताल्लुक रखने वाले और इरान में जन्मे मोहम्मद ताहिदी फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में रहते हैं और खुद को रिफॉर्मिस्ट (बदलाव लाने वाला) इमाम बताते हैं. वे लगातार कट्टर इस्लाम के खिलाफ बोलते रहे हैं. ताहिदी दिल्ली में एक कल्चरल इवेंट में इसी हफ्ते हिस्सा लेने आये हैं. मोहम्मद ताहिदी ने ट्विटर पर दिल्ली के कार्यक्रम की जानकारी दी है जिसमें उन्हें बुलाया गया है. इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर दी आर्ट्स में 8,9,10 फरवरी को होने वाले अर्थ कल्चरल फेस्ट का पोस्टर शेयर करते हुए उन्होंने लिखा- ‘अगर भारत के कट्टर इमाम के पास दिमाग होता तो वे अब तक छुट्टी पर चले गए होते.’

आपको बता दें कि कड़े बयानों को लेकर उनके खिलाफ फतवा भी जारी किया जा चुका है. मुस्लिमों का एक तबका उन्हें फेक इमाम भी बताता है. डेली मेल के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया के नेशनल इमाम काउंसिल भी बयान देकर उन्हें फर्जी शेख बता चुका है तथा दुनियाभर के कट्टरवादी मोहम्मद  ताहिदी की आलोचना करते है तथा कहते हैं कि उन्हें इस्लाम की जानकारी नहीं है. भारतीय मुस्लिमों के बारे में मोहम्मद ताहिदी का कहना है कि भारतीय मुसलमान बहुत अच्छे हैं. लेकिन मेरी दिक्कत इस्लाम के पाकिस्तानी वर्जन से है. जो मिलिटेंट से काफी प्रभावित है.

Share This Post