अमेरिका और चीन में तनातनी जारी. ट्रंप ने चीन को कहा- दादागिरी उत्तर कोरिया को दिखाओ

उत्तर कोरिया अपनी सैन्य ताकत को बढ़ाने के लिए आए दिन बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण करता है। दक्षिण कोरिया और अमेरिका कई बार उत्तर कोरिया को मिसाइल का परीक्षण ना करने की चेतावनी दे चुके हैं लेकिन फिर भी उनकी चेतावनी को नजरअंदाज करते हए उत्तर कोरिया बार-बार मिसाइल का परीक्षण करता है। हाल ही में उत्तर कोरिया ने एक और बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था और कहा था कि उसकी ये मिसाइल अमेरिका का आसानी से खात्मा कर सकती है।

वहीं, अमेरिका ने उत्तर कोरिया की इस हरकत को लेकर चीन पर निशाना साधा है। अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर कोई भी एक्शन ना लेने पर चीन पर आरोप लगाया है। अमेरिका ने कहा कि मैं चीन से बहुत निराश हूं, हमारे अतीत के बेवकूफ नेताओं ने उन्हें व्यापार में एक साल में अरबों डॉलर बनाने दिया, लेकिन उन्होंने बातचीत के अलावा हमारे लिए उत्तर कोरिया के साथ कुछ नहीं किया। लेकिन अब हम आगे भी ऐसा जारी नहीं रख सकते हैं। चीन को आसानी के साथ इस समस्या का समाधान करना चाहिए।
बता दें कि उत्तर कोरिया के परीक्षण करने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि यह कदम उसके निरंकुश शासन का दुस्साहसी एवं खतरनाक है और यह प्योंगयांग को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अलग-थलग कर देगा। इससे एक दिन पहले ही अमेरिकी कांग्रेस ने रूस, ईरान और उत्तर कोरिया पर नए कड़े प्रतिबंध लागू करने के लिए मतदान किया था। ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया ने एक और बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया जो एक महीने से भी कम समय में ऐसा दूसरा परीक्षण है, उत्तर कोरिया के शासन का नया दुस्साहसी और खतरनाक कदम है।
Share This Post

Leave a Reply