संसार में तीसरे नंबर पर आतंकवाद प्रभावित होने पर भी भारत वालों को नहीं पता आतंकवाद का धर्म

हिन्दुस्तान में तथाकथित बुद्धिजीवियों तथा तमाम राजनेताओं द्वारा आतंक को लेकर अक्सर एक थ्योरी दोहराई जाती है कि आतंक का कोई धर्म नहीं होता है. जबकि अक्सर देखा जाता है कि देश में जितने भी आतंकी हमले होते हैं उसके पीछे एक मजहबी सोच होती है, मजहबी लक्ष्य होता है. “गजवा-ए-हिन्द” इसी सोच तथा लक्ष्य का नाम है जो हिन्दुस्तान में एक विशेष मजहबी विचारधारा को आगे रखकर आतंकी हमलों को अंजाम देती है. अब एक रिपोर्ट आयी है जिसके अनुसार दुनिया के सर्वाधिक आतंक प्रभावित देशों में भारत तीसरे स्थान पर है. आश्चर्य होता है कि इसके बाद भी हिंदुस्तान को आतंकवाद का धर्म नहीं मालूम है.

अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा पोषित नेशनल कंसोर्टियम फॉर द स्‍टडी ऑफ टेररिस्‍म एंड रिस्‍पोंसेज टू टेररिस्‍म (START) की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक 2017 में दुनिया में आतंक का सर्वाधिक दंश इराक ने झेला. इसके बाद दूसरे स्‍थान पर अफगानिस्‍तान रहा. इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत दुनिया का ऐसा तीसरा देश है जहाँ सर्वाधिक आतंकी घटनाएँ होती हैं. रिपोर्ट के मुताबिक़, 2017 में दुनिया में हुए कुल आतंकवादी हमलों में 59 प्रतिशत हमले भारत और पाकिस्तान सहित एशिया महाद्वीप के पांच देशों में हुए. इन हमलों का शिकार सबसे ज्यादा भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, इराक और फिलीपींस हुए. दुनिया में हुए कुल आतंकी हमलों में से आधे से अधिक हमले चार देशों में हुए. इनमें इराक में 23 फीसदी, अफगानिस्‍तान में 13 फीसदी, भारत में 9 फीसदी और पाकिस्‍तान में 7 फीसदी हमले हुए. वहीं इन हमलों में मरने वाले कुल लोगों में से आधे से अधिक मौतें तीन देशों इराक (24 फीसदी), अफगानिस्‍तान (13 फीसदी) और सीरिया (8 फीसदी) हुईं.

अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा पोषित स्‍टार्ट की ओर से जुटाए गए आंकड़ों में दावा किया गया है कि जम्‍मू और कश्‍मीर में 2017 में आतंकी घटनाओं में 24 फीसदी का इजाफा हुआ है. वहीं प्रदेश में इन आतंकी हमलों में मारे जाने वाले लोगों की संख्‍या में इस दौरान 89 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है. रिपोर्ट के मुताबिक इस्‍लामिक स्‍टेट (आईएसआईएस) दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी संगठन रहा. इसने 2017 में दुनियाभर में 1321 आतंकी हमले किए. इन हमलों में कुल 7,120 लोगों की मौत हुई. हालांकि आईएसआईएस के हमलों में 10 फीसदी और इनमें मरने वालों में 40 फीसदी की कमी आई है. इस सूची में दूसरे स्‍थान पर तालिबान है. इसने दुनियाभर में 907 हमले किए, इनमें 4925 लोगों की मौत हुई. अल-शबाब इसमें तीसरे स्‍थान पर है. इसने 573 हमले किए और 1894 लोगों को मारा. चौथे स्‍थान पर न्‍यू पीपल्‍स आर्मी है. इसके 363 हमलों में 200 लोगों की मौत हुई. पांचवें स्‍थान पर बोको हराम है. इसने 2017 में 337 हमले किए और 1,577 लोगों की मौत हुई.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *