पहली बार किसी देश के मुसलमानों ने चीन के खिलाफ किया है प्रदर्शन और वो देश कोई इस्लामिक मुल्क नहीं

पिछले काफी समय चीन के शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों पर अत्याचार की खबरें सामने आ रही हैं. तमाम मीडिया सूत्रों, यहाँ मानवाधिकार संगठनों का भी ये कहना है कि चीन में मुस्लिमों पर अत्याचार किया जा रहा, उन्हें नमाज पढने से रोका जा रहा है, उन्हें कैंपों में कैद करके रखा जा रहा है तथा उन्हें जबरन सत्ता की वन्दना कराई जा रही है और इस्लामिक कानूनों से दूर किया जा रहा है. लेकिन अब मुस्लिमों पर अत्याचार के विरोध में एक देश में चीन के खिलाफ प्रदर्शन किया गया है. आपको बता दें कि चीन के खिलाफ ये प्रदर्शन किसी इस्लामिक मुल्क में नहीं ह़ा है बल्कि हिन्दुस्तान में हुआ है.

आपको बता दें कि भारतीय मुसलमानों ने चीन के पश्चिमी प्रांत शिनजियांग में उइगर मुसलमानों के समर्थन में चीन की सरकार के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किए और रैलियां निकालीं. प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार भारत के महानगर मुंम्बई में शुक्रवार को मुसलमानों ने बड़ी संख्या में जुमे की नमाज़ के बाद सड़कों पर निकल कर चीनी मुसलमानों पर वहां की सरकार द्वारा किए जा रहे अत्याचारों पर रोष प्रकट करते हुए विरोध-प्रदर्शन किए और रैलियां निकालीं. चीनी मुसलमानों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों ने चीनी सरकार से मांग की है कि चीन के मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों को तुरंत रोका जाए और जिन लोगों को गिरफ़्तार किया गया है उन्हें रिहा किया जाए.

उल्लेखनीय है कि चीन के पश्चिमी प्रांत उइगर और दूसरे अन्य क्षेत्रों के मुसलमानों की बड़े स्तर पर गिरफ़्तारियों की ख़बरों से विश्व समुदाय में चिंता की लहर दौड़ गई है लेकिन कोई भी चीन के खिलाफ खुलकर बोलने की हिमाकत नहीं कर पा रहा है. इस बीच चीनी सरकार की ओर से एक बयान जारी करके कहा गया है कि पश्चिमी प्रांत शिनजियांग देश के मुसलमानो के साथ किसी भी तरह का कोई दुर्व्यवहार नहीं किया जा रहा है लेकिन चीन आपने देश की एकता-अखंडता की सुरक्षा के लिए हर कदम उठाएगा तथा चीनी स्वाभिमान से समझौता नहीं करेगा.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *