Breaking News:

आतंकियों की लाश घसीटने पर सेना के खिलाफ कार्यवाही मांगने वालों को पाकिस्तान ने दिया जवाब… टांग काटी, करेंट लगाया और गला रेत दिया सैनिक का

कुछ दिन पहले ही आतंकियों के मारे जाने के बाद भारतीय सेना द्वारा उनका शव घसीट कर ले जाने का फोटो सामने आया था तो तमाम राजनैतिक दल तथा तथाकथित बुद्धिजीवी इसके खिलाफ खड़े हो गये तथा सेना के खिलाफ कार्यवाही की मांग की थी. सेना पर कार्यवाही नहीं हुई लेकिन सेना पर कार्यवाही मांगने वालों को जवाब दिया है पाकिस्तान ने. आतंकियों के प्रति समर्थन तथा भारतीय सेना पर कार्यवाही मांगने वालों को जवाब देते हुए नापाक मुल्क पाकिस्तान ने अपना क्रूर तथा बर्बर चेहरा दिखाते हुए BSF के जांबाज जवान का अपहरण करके तालिबानी अंदाज में क्रूरता से ह्त्या कर दी. ह्त्या के बाद पाकिस्तान की सेना ने BSF के जवान के साथ बर्बरता की तथा शव को क्षत-विक्षत कर दिया.

पाकिस्तानी सैनिकों ने BSF के जवान का अपहरण करके उनका गला रेत दिया, आँखें निकाल ली, करेंट लगाया तथा उनके तीन गोलियां भी मारी. जवान की ह्त्या व शव को क्षत-विक्षत करने के बाद उनके शव को फेंक दिया. एकतरफ जहाँ पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान खान भारत से बातचीत का अनुरोध कर रहे थे तो वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तानी सेना क्रूरता को भी मात दे रही थी व् भारत की पीठ में छुरा घोंप रही थी. खबर के मुताबिक़, सांबा के रामगढ़ सेक्टर में बार्डर पर बीएसएफ जवान का क्षत विक्षत शव मंगलवार को बरामद हुआ था. बर्बरता का आलम यह है कि पहले जवान का गला रेता गया फिर पूरे शरीर पर कई स्थानों पर वार किए गए. शव पर कई स्थान पर काटने के निशान मिले हैं। आंखों को निकालने की कोशिश की गई है. नजदीक से तीन गोलियां भी मारी गई हैं. जवान की शिनाख्त नरेंद्र कुमार निवासी कला गांव सोनीपत (हरियाणा) के रूप में हुई है. बीएसएफ का कहना है कि यह घटना तब हुई, जब बीएसएफ के जवान टैक्टिकल पेट्रोलिंग कर रहे थे.

बताया गया है कि बीएसएफ जवान को तीन गोलियां नजदीक से मारी गई हैं. इनमें एक दिल के पास, दूसरी जांघ और तीसरी बाईं आंख पर मारी गई है. घटना के बारे बताया चा रहा है कि मंगलवार सुबह बीएसएफ के आठ जवानों का गश्ती दल फेंसिंग के आगे सरकंडा काट रहा था. इसी दौरान पाकिस्तान की बैट टीम ने हमला कर दिया, जिसको पाकिस्तानी रेंजरों ने कवर फायर दिया. इसमें एक जवान नरेंद्र घायल हो गया. बैट टीम घायल जवान को अपने साथ ले गई और तकरीबन 9 घंटे के बाद तारबंदी के पास उसके शव को फेंक दिया गया. काफी खोजबीन के बाद जवान नरेंद्र का शव बरामद हुआ लेकिन उनके शव के साथ जो बर्बरता की गयी थी वह काफी दिल दहलाने वाली. इस मामले पर BSF ने ज्यादा कुछ नहीं कहा है लेकिन साफ़ किया है कि भारतीय सेना उचित समय इसका जवाब जरूर देगी.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *