अमेरिका के उन धर्मभक्त हिन्दुओ को देश अभिवादन कर रहा है जिन्होंने डोनाल्ड ट्रम्प की पार्टी से लिखित माफीनामा लिखवा डाला भगवान् गणेश के अपमान पर अमेरिका के हिन्दुओ की एकजुटता दुनिया ने देखी .

ये सम्पूर्ण भारतवंशियो और सनातनधर्मियों की एकजुटता का सबसे बड़ा प्रमाण है जो उन्होंने अपने पराक्रम और कर्मठता से दुनिया के सबसे ताकतवर देश के सबसे ताकतवर इंसान की पार्टी से लिखित माफीनामा लिखवा डाला. ये पार्टी है अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की और जिसको वहां रिपब्लिकन पार्टी के नाम से जाना जाता है . उसके ऊपर जाने अनजाने में भगवान गणेश जी के चित्र का दुरूपयोग करने का आरोप लगा जिसके बाद वहां रहने वाला हिन्दू समाज आग बबूला हो गया और उनके भारी विरोध के बाद बहुत कम समय में रिपब्लिकन पार्टी घुटने टेकते नजर आई और जल्द ही लिखित माफीनामा भी पेश कर दिया .

विदित हो कि संसार में रहने वाले सभी हिन्दुओं के आराध्य भगवान गणेश जी के उत्सव की धूम आज कल हर तरफ चल रही है लेकिन इसी बीच में अमेरिका की सत्ताधारी पार्टी से ऐसी गलती हुई कि उन्हें बाद में उसको स्वीकार करते हुए क्षमा मांगनी पड़ी .. विदित हो कि अमरीका के टेक्सास में रहने वाले हिंदूओं का कहना है कि वहां की राजनीतिक पार्टी ने भगवान गणेश जी का मजाक़ बनाया है. दरअसल राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी ने टेक्सास के एक स्थानीय अख़ाबर में विज्ञापन दिया है, जिसमें भगवान गणेश के चित्र का इस्तेमाल किया है. उस विज्ञापन में यह पूछा गया है कि “आप गधे की पूजा करेंगे या हाथी की? चुनना आपको है.”

यहाँ ध्यान देने योग्य है कि डोनाल्ड ट्रम्प के नेतृत्व में चल रही रिपब्लिकन पार्टी का चुनाव चिह्न हाथी है जबकि उनके प्रतिद्वंदी हिलेरी क्लिंटन के नेतृत्व में चल रही पार्टी डेमोक्रेटिक का चुनाव चिन्ह गधा है . हिन्दुओ के प्रबल विरोध के बाद जब ये विवाद बधा तो आख़िरकार अपनी गलती स्वीकार करते हुए रिपब्लिकन पार्टी ने मांगी माफ़ी. यद्दपि   यह पहली बार नहीं है जब देश से बाहर हिंदुओं के देवता भगवान गणेश का इस्तेमाल किसी विज्ञापन में किया गया है और उस पर विवाद छिड़ा हो. पिछले साल सितंबर के महीने में ही ऑस्ट्रेलिया के एक मांस उत्पादक समूह ने भगवान गणेश को मांस खाते एक विज्ञापन में दिखाया गया था, जिसके बाद वहां के हिंदूओं ने आपत्ति जताई थी.

यद्दपि उस समय भारत ने भी ऑस्ट्रेलिया के सामने अपना कूटनीतिक विरोध दर्ज कराया था जिसके बाद हिन्दुओ की भावनाओ को अपमानित करने के लिए उच्च स्तर पर क्षमा याचना की गयी थी .  फिलहाल हिन्दुओ की एकजुटता के बाद अमरीका में भगवान गणेश के विज्ञापन पर बढ़े विवाद के बाद रिपल्बिकन पार्टी ने माफ़ी मांगी है. पार्टी ने अपने लिखित माफ़ीनामे में कहा है, “विज्ञापन का उद्देश्य पूजा से पहले लोगों को शुभकामानएं देने का था. इसका मक़सद हिंदुओं की भावना और उनकी संस्कृति की हंसी उड़ाना नहीं था. अगर किसी की भावना को ठेस पहुंची है तो हम लोग माफ़ी मांगते हैं.” फिलहाल अमेरिका मे रहने वाले हिन्दुओ की इस एकजुटता ने संसार भर के हिन्दुओ को एक नई प्रेरणा दी है और अपने आराध्यो का किसी भी प्रकार से अपमान न सहने की संकल्प शक्ति भी .

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *