Breaking News:

नेहरू का नहीं बल्कि दादा फिरोज़ का गोत्र बताएं राहुल गांधी – वसुंधरा राजे

राजस्थान की चुनावी सरगर्मी जिस तेजी से बढ़ी है उसी तेजी से वहां पर नेताओं के बीच की आपसी जुबानी जंग भी तेज हुई है .. लेकिन बात चाहे प्रदेशिक राजनीति की हो या विषय राष्ट्रीय हो, राहुल गांधी का गोत्र इन सबमे सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोर रहा है .. असल मे राहुल गांधी की जनेऊ ने भी कभी इसी तरह की चर्चा बटोरी थी और अब मुद्दा उनका गोत्र है .. इसी गोत्र पर जहां भारतीय जनता पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व हमलावर रहता है तो अब राजस्थान के चुनावी रण की सेनापति वसुंधरा राजे ने भी ली है इसी मुद्दे पर चुटकी ..

राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी के बीच जाति, धर्म को लेकर बयानबाजी जारी है। अब राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गोत्र पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को अपने नाना पंडित जवाहर लाल नेहरू का नहीं, दादा फिरोज गांधी और पिता राजीव गांधी का गोत्र बताना चाहिए। बीजेपी की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार वसुंधरा ने ट्वीट कर कहा, ”मेरे मंदिर जाने का मजाक उड़ाने वाले राहुल गांधी खुद मंदिर जाने लगे हैं और वोटों के लालच में गोत्र भी बताने लगे हैं। मैं पूछती हूं कि उन्होंने अपना गोत्र क्यों नहीं बताया? जो गोत्र बताया है वह तो नेहरूजी का गोत्र है। जबकि उन्हें अपने दादा और पिता का गोत्र बताना चाहिए।”

उन्होंने कांग्रेस पर जातियों के बीच लड़ाने का भी आरोप लगाया। वसुंधरा ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ”वोट के चक्कर में कांग्रेस के नेताओं ने क्या-क्या नहीं किया। भाई को भाई से लड़ाया, एक जाति को दूसरी जाति से भिड़ाया। मजहबों के बीच दीवारें खड़ी कर लोगों को विकास के मुद्दों से दूर रखा। लेकिन जनता अब जान चुकी है कि उनके पास ना नीति है, ना नेता है और ना ही नीयत।” दरअसल, 26 नवबंर को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर में पूजा अर्चना की थी। इस दौरान उन्होंने मंदिर के पुजारी को बताया था कि वह कौल ब्राह्मण (कश्मीरी) और दत्तात्रेय गोत्र के हैं। बीजेपी राहुल के गोत्र पर सवाल उठाती रही है।

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *