उमर खालिद और कन्हैया के साथ मंच से बोले तेजस्वी – “हमारी सरकार आई तो मुसलमानो को करेंगे मजबूत”

इस पूरे भाषण में कहीं भी हिन्दू और हिंदुत्व की बात नहीं हुई . हाँ , साम्प्रदायिक शक्तियों का नाम कई बार आया जो निश्चित रूप से हिंदुत्व की बात करने वालों के लिए था . उनके साथ मंच पर कन्हैया कुमार और उमर खालिद भी थे जिनके ऊपर देश विरोधी नारे लगाने का आरोप लगा था , उन दोनों की मौजूदगी तेजस्वी यादव के कथित सेकुलर छवि को और अधिक मजबूत कर रही थी और वहां पर जमा भीड़ सिर्फ उन सभी की बातों को सुन रही थी बड़े ध्यान से .

ज्ञात हो कि तेजस्वी यादव ने अपनी पार्टी को मुसलमानों के हितो के लिए लड़ने वाली पार्टी खुल कर घोषित कर दिया है . ज्ञात हो कि बिहार में विधानसभा चुनाव को अभी एक साल से ज्यादा का समय है लेकिन मुख्य विपक्षी दल राजद ने मतदाताओं को लुभाना शुरू कर दिया है। राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि अगर पार्टी सत्ता में आती है, तो वह अपनी राष्ट्रीय जनता दल की सरकार में मुसलमानों को पर्याप्त प्रतिनिधित्व देंगे। तेजस्वी का कहना है कि उनकी सरकार मुसलमानों के लिए वो तमाम कार्य करेगी जिस से वो और मजबूत हों और उनका बिहार में तेजी से विकास हो .

बिहार के अररिया में अपनी यात्रा के दौरान देश विरोधी नारों का आरोप झेल रहे जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के छात्र संघ के नेताओं कन्हैया कुमार और उमर खालिद तेजस्वी यादव के साथ एक ही मंच पर दिखे थे। इस पर बोलते हुए तेजस्वी ने कहा कि, हमने कभी भी सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ कोई समझौता नहीं किया है। साथ में उन्होंने यह भी कहा कि विशेष रूप से मुसलमानों को नीतीश कुमार की चाल से सावधान रहना चाहिए। वह पटना से लगभग 300 किलोमीटर दूर अररिया में मुस्लिम नेता स्वर्गीय एमडी तस्लीमुद्दीन की याद में आयोजित एक समारोह में बोल रहे थे।

 

Share This Post