सत्य साबित हुए वीर सावरकर.. मुस्लिमों के लिए जिसके पिता ने जीवन भर संघर्ष किया, उसके बेटे ने श्रीराम मंदिर खुद बनाने का एलान किया

हिन्दुओं के जननायक तथा अखंड हिन्दू राष्ट्र के लिए आजीवन करते रहने वाले अमर हुतात्मा वीर सावरकर ने हिन्दुओं को उनकी ताकत का एहसास कराने के लिए, हिन्दुओं की सोयी हुई चेतना को जगाने के लिए एक बार कहा था कि अगर हिन्दू संगठित हो जाये, अगर हिन्दू एकता के सूत्र में बंध जाये तो देश का हर नेता जो हिन्दुओं के खिलाफ क्यों न रहा हो, वो भी द को सनातनी साबित करने के लिए कोट पर जनेऊ पहिनकर दिखाएगा कि वो हिन्दू है, माथे पर तिलक लगाकर सबको बतायेगा कि वो हिन्दू है तथा हिन्दुओं का सम्मान करता है.

देश के वर्तमान राजनैतिक परिद्रश्य में अमर हुतात्मा वीर सावरकर जी की ये बात अक्षरशः सत्य साबित हो रही है. हमेशा हिन्दू विरोध की राजनीति करने, हिन्दुओं तथा भगवा को आतंकी बताने वाले दल आज न सिर्फ मंदिर मंदिर दौड़ रहे हैं बल्कि उनमें खुद को बड़ा हिन्दू साबित करने की होड़ भी लगी है. ये सब हुआ है 2014 के लोकसभा चुनावों के बाद जब देश की हिन्दू राष्ट्रवादी जनता ने इन छद्म सेक्यूलर दलों को पूरी तरह से दरकिनार कर दिया तथा भारतीय जनता पार्टी को सत्ता सौंपी थी. 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान हिन्दुओं की जो एकता दिखाई दी उसके बाद हमेशा हिन्दुत्व के खिलाफ बोलने वाले, हिन्दुओं का दमन करने वाले नेताओं के सुर बदल गये तथा अब इन नेताओं में खुद को हिन्दू समर्थक बताने के होड़ लगी है.

ताजा मामला बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री तथा रष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रमुख लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव का है. लालू के लाल तेजप्रताप यादव ने कहा है कि वह अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण बनवाएंगे. तेजप्रताप यादव उन लालू यादव के बेटे हैं जिन्होंने जीवन भर मुस्लिमों के लिए संघर्ष किया, जिन्होंने हमेशा से अयोध्या  में बाबरी मस्जिद का समर्थन किया है. गुरुवार को छात्र आरजेडी के संगठन विस्तार के दौरान तेजप्रताप यादव ने कहा है कि अगर उनकी सरकार बनती है तो वो सभी धर्म के लोगों के साथ मिलकर बिहार से ईंट लेकर जाएंगे और अयोध्या में मंदिर बनावेंगे.

Share This Post