महिला विरोधी नेताओं के जमावड़े के लिए कुख्यात आप पार्टी संसद में मुस्लिम महिलाओं का नहीं देगी साथ

ये वही पार्टी है जिसमे सोमनाथ भारती जैसे वो नेता हैं जो लाइव डिबेट पर महिलाओं को गन्दी गन्दी गालियाँ देते हैं. यही नहीं , अपनी पत्नियों पर कुत्ते तक छोड़ देने के आरोप इसी पार्टी के कुछ नेताओं पर लगे हैं .. बंगलादेशियो के हमले में विधवा हुई एक दिल्ली की महिला के ऊपर ट्विटर के माध्यम से ठहाके लगाने वाले नेता भी इसी पार्टी में हैं . अब उसी पार्टी ने एक कदम और आगे बढाया है महिलाओं के विरोध में .

ज्ञात हो कि पिछले कई वर्षो से तीन तलाक का दंश झेल रही महिलाओं को अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व की आम आदमी पार्टी ने दिया है एक बहुत बड़ा झटका . इसी पार्टी के एक बड़े नेता संजय सिंह ने जो बयान दिया उसको सुन कर इस तीन तलाक शब्द से पीडिता तमाम महिलाओं को झटका जैसा लगा है और उन्होंने अरविन्द केजरीवाल के झूठे महिला समर्थक नारों पर सवाल उठाया है और उनकी एक नई छवि देखने को मिली है उनको .

यह विधेयक गुरुवार को लोकसभा में पारित हो गया और अब इसे उच्च सदन में लाया जाएगा. उम्मीद की जा रही है कि यह विधेयक अगले सप्ताह उच्च सदन में लाया जा सकता है. ध्यान देने योग्य है कि एक बार में तीन तलाक (तलाक-ए-बिद्दत) को अपराध घोषित करने के प्रावधान का विरोध करते हुये आम आदमी पार्टी (आप) ने कहा कि वह इससे जुड़े मुस्लिम महिला अधिकार संरक्षण विधेयक का उच्च सदन में समर्थन नहीं करेगी. राज्यसभा में आप के नेता संजय सिंह ने शुक्रवार को बताया कि मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की कुप्रथा से निजात दिलाने के नाम पर मुस्लिम समाज के लोगों को डराने के लिये लाए गए इस विधेयक का पार्टी विरोध करेगी.

उन्होंने कहा कि तीन तलाक को अपराध घोषित करने के बारे में न्यायालय के आदेश में कुछ नहीं कहा गया है इसलिए आप राज्यसभा में इस विधेयक का विरोध करेगी. सिंह ने कहा ”मेरा मानना है कि अगर तीन तलाक बोल कर पत्नी को छोड़ना गलत है तो तीन तलाक बोले बगैर जिन लोगों ने अपनी पत्नी को छोड़ रखा है उनके लिये कानून कब बनेगा.”

Share This Post

Leave a Reply