टिकट बंटवारे को लेकर कांग्रेस में जूतमपैजार… राहुल गांधी के सामने भिड़े दिग्विजय और ज्योतिरादित्य सिंधिया

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों को लेकर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी तथा लंबे समय से सत्ता का वनवास झेल रही विपक्षी कांग्रेस जी-जान से चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं. कांग्रेस पार्टी चुनाव जीतने के भले ही तमाम वादे करे लेकिन अंदरखाने कांग्रेस में सब कुछ सही नहीं चल रहा है. खबर के मुताबिक़, टिकट बंटवारे को लेकर कांग्रेस पार्टी में विद्रोह शुरू हो गया है. कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और कांग्रेस पार्टी की तरफ से मुख्यमंत्री पद के संभावित उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया राहुल गांधी के सामने ही आपस में भिड़ गये.

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकटों के वितरण पर फैसला अभी भी बाकी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पैराशूटर्स को टिकट नहीं देने के फैसले को दोहराया है. ऐसे में अब जो दर्जनभर नेता यहां-वहां से आए हैं, उनके टिकट पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. वहीं, दूसरे दलों के नेताओं को लाने वाले कांग्रेस नेता टिकट की जुगाड़ की कोशिशें पूरी कर रहे हैं. इसी सिलसिले में बुधवार को कांग्रेस केंद्रीय चुनाव समिति बैठक हुई। इस बैठक में जमकर बवाल हुआ.

बैठक में अपने-अपने उम्मीदवारों को टिकट दिलाने के लिये कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया आपस में भिड़े गए. सिंधिया और दिग्विजय के बीच राहुल की मौजूदगी में काफी तेज़ झड़प हुई. काफी देर तक दोनों के बीच तू-तू मैं मैं होती रही और जब बात नहीं बनी तो दोनों के बीच विवाद सुलझाने के लिए राहुल को तीन सदस्यीय समिति बनानी पड़ी.  तीन सदस्यीय कमेटी के सदस्यों अशोक गहलोत, वीरप्पा मोइली और अहमद पटेल ने पार्टी के वॉर रूम 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड में रात 2.30 बजे तक मामले को सुलझाने के लिए बैठक की. सभी नेताओं को इस विवाद पर कुछ भी बोलने से मना कर दिया गया है. सूत्रों के मुताबिक इस तू-तू मैं मैं से राहुल काफी नाराज़ हैं.

 

Share This Post

Leave a Reply