चुनाव से पहले बसपा में बवाल.. मायावती के ब्राह्मण नेता ने उन्ही पर लगाया सनसनीखेज आरोप

एकतरफ उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री तथा बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती आगामी लोकसभा चुनावों के लिए महागठबंधन के तमाम प्रयास कर रही हैं तो वहीं खुद उन्हीं की पार्टी के अंदर बगावत शुरू हो गई है. बहुजन समाज पार्टी के पूर्व एमएलसी तथा कद्दावर ब्राह्मण नेता मुकुल उपाध्याय ने बसपा प्रमुख मायावती पर सनसनीखेज आरोप लगाया है, जिसके बाद बसपा में खलबली मच गई है.

आपको बता दें कि मुकुल उपाध्याय को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाकर बसपा से निष्काषित कर दिया है. मुकुल उपाध्याय पूर्व ऊर्जा मंत्री रामबीर उपाध्याय के छोटे भाई है. बसपा से निष्कासन के बाद मुकुल उपाध्य ने बसपा प्रमुख मायावती पर करारा हमला बोला है तथा उन पर टिकट के लिए पैसे मांगने का आरोप लगाया है. मुकुल उपाध्याय का आरोप है कि अलीगढ़ लोकसभा क्षेत्र से वह बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते थे, इसके बदले में बसपा की मुखिया मायावती ने उनसे 5 करोड रुपए मांगे, जब उन्होंने 5 करोड रुपए देने से मना कर दिया तो उन्हें बसपा से निकाल दिया.

उन्होंने कहा है कि बसपा सुप्रीमो को पैसे के सिवा कुछ दिखाई नहीं देता. पूर्व एमएलसी मुकुल उपाध्याय ने आरोप लगाया है कि उनसे 5 करोड़ रुपए बसपा के कॉर्डिनेटर रणवीर सिंह कश्यप द्वारा मांगे गए थे। उन्होंने यहां पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि बसपा के कदावर नेता रहे नसीमुद्दीन सिद्दकी, स्वामी प्रसाद मौर्य, ब्रजेश पाठक व कई अन्य बड़े नेता प्रेस कॉन्फ्रेंस करके यह बात कह चुके हैं कि बसपा सुप्रीमो मायावती रुपए मांगती है. नसीमुद्दीन सिद्दकी तो रिकॉर्डिंग भी पेश कर चुके हैं, इससे भी बड़ा सबूत देने की आवश्यकता नहीं है.

Share This Post

Leave a Reply