अयोध्या स्टेशन पर उतरने वाले हर व्यक्ति को अब लगेगा कि वो किसी मंदिर में उतरा है… भारतीय रेलवे की अभूतपूर्व पहल

कोर्ट में लंबित होने के कारण भले अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण में   देरी हो रही हो लेकिन अयोध्या रेलवे स्टेशन को श्रीराम मंदिर की तर्ज पर फिर से बनाया जा रहा है. इसके लिए कार्य भी शुरू हो गया है. खबर के मुताबिक़, 100 करोड़ रुपये से अधिक की लागत का रेलवे स्टेशन विश्‍व हिंदू परिषद (विहिप) के राम मंदिर मॉडल की तर्ज पर बनाया जा रहा है. इसकी विशेषता होगी कि अयोध्या पहुंचने वाला हर श्रद्धालु रेलवे स्टेशन पर उतरते ही राम मंदिर जैसा महसूस करने लगेगा. रेलवे स्टेशन का उपरी भाग राम मंदिर की तर्ज पर होगा. साथ ही अयोध्या का मॉडर्न रेलवे सबसे आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा.

कहा जा रहा है कि यह देश का सबसे आधुनिक रेलवे स्टेशन होगा. इसमें लगभग एक लाख लोगों के रुकने की व्यवस्था होगी. यह रेलवे स्टेशन 21 महीनों में 2020 तक बनकर तैयार होने की उम्‍मीद है. राम मंदिर का काम तो नहीं शुरू हो पाया है. लेकिन अयोध्या का राम मंदिर मॉडल रेलवे स्टेशन का काम तेजी से चल रहा है.

वहीं अयोध्या मसले के पक्षकार इकबाल अंसारी और अयोध्या के संतों ने भी अयोध्या रेलवे स्टेशन को राम मंदिर मॉडल जैसा निर्माण की शुरुआत होने पर खुशी जाहिर की है. इकबाल अंसारी का कहना है कि अयोध्या रेलवे स्टेशन के निर्माण से अयोध्या का विकास होगा. बता दें कि पिछले साल फरवरी में केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा था कि अयोध्या के रेलवे स्टेशन पर राम मंदिर का मॉडल बनाया जाएगा. उन्होंने रेलवे स्टेशन के पुनर्निर्माण कार्य का उद्घाटन करते हुए यह घोषणा की थी.

Share This Post