भारत में बढ़ते इस्लामीकरण की आवाज गूंजेगी अमेरिका में… श्री सुरेश चव्हाणके जी अमेरिका के कई शहरों में करेंगे भारतीयों को संबोधित

1893में अमेरिका की विश्व धर्म संसद में स्वामी विवेकानंद जी के भाषण की 125वीं वर्षगाँठ पर विश्व हिन्दू कांग्रेस द्वारा आयोजित विश्व हिन्दू कांग्रेस में वक्ता के तौर पर शामिल होने के लिए सुदर्शन टीवी के चेयरमैन तथा राष्ट्र निर्माण संस्था के प्रमुख श्री सुरेश चव्हाणके जी अमेरिका रवाना हो चुके हैं. आपको बता दें कि आरएसएस प्रमुख मोहन भगवत जी विश्व हिन्दू कांग्रेस के प्रमुख वक्ता होंगे तथा इस कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू जी सहित 80 देशों के 250 से ज्यादा वक्ता तथा 2500 से ज्यादा प्रतिनिधि शामिल होंगे. अमेरिका के शिकागो में आयोजित की जा रही ये विश्व हिन्दू कांग्रेस 7 सितंबर से 9 सितंबर तक आयोजित की जायेगी.

श्री सुरेश चव्हाण के जी विश्व हिन्दू कांग्रेस के अलावा अमेरिका के 7 अन्य शहरों में “भारत बचाओ यात्रा” के तहत भारतीय अमेरिकी लोगों से मिलेंगे तथा सभाओं को संबोधित करेंगे. अमेरिका रवाना होने से पहले श्री सुरेश चव्हाणके जी ने बताया कि वह अमेरिका में रह रहे हिन्दू राष्ट्रवादियों को भारत में बढ़ते जा रहे इस्लामिक चरमपंथ से पैदा हो रहे खतरे से अवगत कराएंगे. श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा कि अमेरिका के 7 बड़े शहरों में उनके कार्यक्रम हैं तथा उनका लक्ष्य यही है कि इन कार्यक्रमों के माध्यम से वह भारतीय अमेरिकी लोगों से हिंदुस्तान में “जनसंख्या नियंत्रण क़ानून” के लिए समर्थन मांगेगे ताकि हिंदुस्तान को सीरिया, लीबिया बनने से रोका जा सके. उन्होंने कहा कि बढ़ता हुआ इस्लामिक कट्टरपंथ न सिर्फ हिंदुस्तान बल्कि दुनिया के लिए भी खतरे के घंटी है. श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा कि उनका अमेरिक दौरा भारत बचाओ यात्रा को विश्वव्यापी रूप देने की शुरुआत है तथा अमेरिका के बाद दुनियाभर के अन्य देशों में रहने वाले भारतीयों से भी वह भारत में जनसंख्या नियंत्रण क़ानून के लिए समर्थन जुटाएंगे.

आपको बता दें कि इस्लामिक कट्टरपंथी सिर्फ हिंदुस्तान में ही नहीं हैं बल्कि अमेरिका में भी जड़ें जमाए बैठे हैं. इसका साक्षात् उदाहरन उस शिकागो शहर में ही है जहाँ विश्व हिन्दू कांग्रेस आयोजित की जा रही है. शिकागो शहर में एक सड़क है जिसका नाम महात्मा गांधी रोड है लेकिन धीरे धीरे वहां मुस्लिम आबादी बढ़ती गयी, जिसमें पाकिस्तानी मुस्लिम भी थे तथा उन्होंने महात्मा गांधी सड़क के आधे पर बहुतायत में अपना कब्जा कर लिया. आज की स्थिति ये है कि जहाँ तक हिन्दू आबादी ज्यादा है वहां सड़क का नाम महात्मा गांधी रोड है लेकिन जहाँ से मुस्लिम आबादी शुरू होती है तो उसी सड़क का नाम मुहम्मद अली जिन्ना रोड रख दिया गया है. ये साबित करता है कि अमेरिका में भी इस्लामिक कट्टरपंथ बढ़ता जी जा रहा है तथा यही कारण है अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी बढ़ते हुए इस्लामिक कट्टरपंथ के खिलाफ मुखर हैं.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *