मुसलमानों से जबरन दस्तखत करवा रहा #चीन कि लिखो -“मैं नास्तिक हूँ”

भारत मे भले ही वामपंथ किसी को एक अदृश्य दुनिया दिखा कर सबके मत व मज़हब के सम्मान की बात करता हो लेकिन इसका मूल अर्थात चीन में वामपंथ का असल स्वरूप किसी भी मत मज़हब का सम्मान नही बल्कि सीधे सीधे नास्तिकता से जोड़ दिया गया है जहां किसी मे आस्था रखना अपराध है ..

एक बेहद सनसनीखेज रिपोर्ट के अनुसार चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के मुस्लिम नेताओं को जबरन उनके मज़हबी धारणाएं त्यागने को बोला जा रहा है ..कुल मिला कर सीधे सीधे कहा जाय तो उन्हें नास्तिक बनाया जा रहा है। यही नहीं उन्होंने बाकायदा “मैं नास्तिक हूँ ” कि शपथपत्र के साथ उनके दस्तख़त भी ले कर जमा कर लिए हैं ..

पार्टी के मुस्लिम कम्युनिस्ट नेताओं को शपथपत्र पर हस्ताक्षर करना है, जिसमें यह कहा गया है कि वह अपनी धार्मिक मान्यताओं को छोड़ चुके हैं। ‘मार्क्स की विचारधारा के प्रति अपनी निष्ठा और शुद्धता’ जाहिर करने के लिए पार्टी ने यह अभियान चलाया है। शपथ का यह अभियान मुस्लिम बहुल गानसू प्रांत के लिनशिया क्षेत्र में किया गया। पार्टी के आधिकारिक वेबसाइट पर इसकी जानकारी दी गई है। 

Share This Post

Leave a Reply