जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग हेतु “जंतर मंतर” पर शुरू हुई जनसंसद… केन्द्रीय मंत्रियों सहित सत्ता तथा विपक्ष के कई जनप्रतिनिधि ले रहे हैं हिस्सा

देश की सबसे बड़ी और सबसे जुड़ी एक ज्वलंत समस्या जनसँख्या विस्फोट पर प्रभावी नियंत्रण और इसके स्थायी व दीर्घकालिक समाधान के लिए ‘राष्ट्र निर्माण संगठन लंबे समय से सरकार से एक कठोर और प्रभावशाली जनसँख्या नियंत्रण कानून’ बनाने की मांग करता रहा है. इसके लिए पिछले साल सुदर्शन टीवी के प्रधान संपादक तथा राष्ट्र निर्माण संस्था के अध्यक्ष श्री सुरेश चव्हाणके जी के नेतृत्व में कश्मीर से कन्याकुमारी से दिल्ली के बीच 20 हजार किलोमीटर की 70 दिवसीय अखिल भारतीय भारत बचाओ यात्रा भी निकाली गई थी तथा आम जनता को भी बढ़ती हुई आबादी से उत्पन होने वाली समस्याओं को लेकर जागरूक किया था.
भारत बचाओ यात्रा के बाद देशभर से जनसंख्या नियंत्रण क़ानून की मांग के लिए आवाज तेज हुई है. इस बीच आज तीन जनवरी को राष्ट्र निर्माण संस्था द्वारा देश की राजधानी दिल्ली की एक प्रमुख जगह जंतर मंतर पर “जनसंख्या नियंत्रण कानून” की मांग के लिए “जनसंसद” आयोजित की जा रही है. इस जनसंसद में जनसँख्या नियंत्रण कानून के लिए प्रस्ताव पारित किया जाएगा. राष्ट्र निर्माण संस्था द्वारा आयोजित की जा रही इस जनसंसद में कई केन्द्रीय मंत्री, सत्ता पक्ष तथा विपक्ष के कई सांसद, प्रांतीय मंत्री वरिष्ठ सैन्य अधिकारी, शीर्ष वैज्ञानिक, समाज सेवक, धर्म गुरु, समाज के प्रबुद्ध लोग तथा आम जनता भी शामिल होगी.
जनसंसद की शुरुआत करते हुए श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा कि अब तक हमारे अभियान को 6 मुख्यमंत्रियों, 225 से ज्यादा सांसदों, 1000 से ज्यादा विधायकों, कई केंद्रीय व प्रांतीय  मंत्रियों सहित लाखों जनप्रतिनिधियों का प्रत्यक्ष समर्थन प्राप्त हो चुका है. उन्होंने कहा कि प्रस्तावित “जनसँख्या नियंत्रण कानून” के लिए कई सांसदों ने प्राइवेट बिल लाने की भी बात कही है लेकिन सदन की कार्यवाही के लगातार बाधित होने से ऐसा करना सम्भव नहीं हो पा रहा है. इसलिए इस कानून हेतु प्रतीकात्मक संसद के रूप में हमने *”जन संसद”* का आयोजन किया है जिसमें *जनसँख्या नियंत्रण कानून* के लिए प्रस्ताव पारित किया जाएगा. श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा कि इस जनसंसद में आम जनता भी राय कहेगी तथा सरकार से जल्द कठोर जनसंख्या नियंत्रण की मांग करेगी.
Share This Post