नेताजी सुभाष जयंती विशेषांक – नागालैंड में नेताजी के गांव रुजाओ को आज गोद ले रहे हैं श्री सुरेश चव्हाणके जी..आप भी बनें इस महान राष्ट्रप्रेम में उनके सहभागी

इस स्थान से कल तक कोई परिचित नही था क्योंकि इस जगह का जिक्र करना नकली कलमकारों की उस बिकी हुई स्याही के कर्ज के साथ नाइंसाफी होती जो उन्होंने अपनी धमनियों में बहने वाले रक्त को पानी बना कर खरीदी थी..साथ ही इस जगह की चर्चा आज़ादी के उस आधारहीन गाने पर सवाल भी खड़े कर देती जिसमें राष्ट्र की स्वतंत्रता का मुख्य जिम्मा गोली बंदूक और बिना खड्ग बिना ढाल को दिया गया है .. लेकिन अचानक ही ये गांव आ चुका है राष्ट्रीय ही नहीं बल्कि अंतर्राष्ट्रीय चर्चा के केंद्र में जब राष्ट्रनिर्माण संस्था के प्रमुख श्री सुरेश चव्हाणके जी ने इस गांव को गोद ले कर इसके नवनिर्माण का संकल्प लिया ..

इस संकल्प को साकार करने के लिए उन्होंने चुना है वो पावन दिन जो इस गांव के लिए ही नही समूचे राष्ट्र के लिए गौरवगान के समान है .. जी हां, ये दिन है नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी की जयंती का.. आज श्री सुरेश चव्हाणके जी नागालैंड के उस गांव में है जो नेताजी सुभाष की बलिदानी सेना आज़ाद हिंद फौज का बेस जैसा था ..ये वही स्थल है जहां भारत की भूमि पर जबरन व देश के कुछ गद्दारों की मिलीभगत से साजिशन कब्ज़ा जमाये अंग्रेजों को सीधी चुनौती युद्ध की मिली थी और उसके बाद आज़ाद हिंद फौज के 60 हजार बलिदानियों ने अपने प्राण दे कर अंग्रेजो का जबड़ा तोड़ कर आज़ादी हासिल कर ली ..इसके बाद भी ये गांव बदहाल और उपेक्षित रहा जो कि समूचे राष्ट्र की प्रेरणा का केंद्र बिंदु बन जाना चाहिए था अब तक ..

राष्ट्र निर्माण संस्था के अध्यक्ष तथा सुदर्शन टीवी के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी नागालैंड के रुजाजो गाँव पहुँच चुके हैं. 14 घंटे की लंबी यात्रा के बाद श्री सुरेश चव्हाणके जी कल शाम 7 बजे ही नागालैंड के रुजाजो गाँव पहुंच चुके हैं. नागालैंड का रुजाजो गाँव वो ऐतिहासिक गाँव है जिसका भारत माता के अमर सपूत राष्ट्रनायक नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के साथ गहरा संबध है. रुजाजो गाँव नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की आजाद हिन्द फौज द्वारा शासित पहला और एकमात्र गाँव है, जिसे श्री सुरेश चव्हाणके जी भव्यता देने व अन्तराष्ट्रीय पटल पर लाने के लिए आज गोद ले रहे हैं..आज से इस गांव का अन्तराष्ट्रीय पटल पर नाम होगा ..

आपको बता दें कि एकसमय रुजाजो गाँव को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने गोद लिया था. तथा वहां आजाद हिन्द फौज की पहली सरकार बनाई थी. रुजाजो गाँव में अपनी सरकार के गठन के समय नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने संकल्प लिया था कि देश की आज़ादी के बाद वह इस गाँव को गोद ले रहे हैं तथा वह रुजाजो गाँव को स्वर्णिम गाँव बनायेंगे. हिंदुस्तान की आजादी के लिए नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने अपना जीवन समर्पित कर दिया था लेकिन अफ़सोस इस बात का है कि जिस रुजाजो गाँव में नेताजी की आजाद हिन्द फौज ने अपनी सरकार बनाई थी, वो गाँव आज भी बदहाल था..

आज़ाद हिन्द फौज के सैनिकों के परिजनों के द्वारा जब इस बात की जानकारी श्री सुरेश चव्हाणके जी को मिली तो उन्होंने संकल्प लिया कि जिस रुजाजो गाँव के जीर्णोद्धार की जिम्मेदारी नेताजी ने ली थी, उसको वह पूरा करेंगे.  आप भी इस पावन व पुनीत कार्य मे भागीदार बन सकते हैं और सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं आपके व हमारे लिए लड़ कर अमर हुए उन 60 हजार वीरों को जिन्होंने अपना मुख्य बेस बनाया था इस गांव को ..इस पावन कार्य मे आर्थिक सहयोग करने के लिए विवरण निम्नलिखित है –

A/C NAME – RASTRA NIRMAN
A/C NO. 3444495009
IFSC CODE – CBIN0282276
BANK NAME – CENTRAL BANK OF INDIA.

PayTM 9540115511

Online Donation link – http://www.sudarshannews.in/donate-on

 

 

Share This Post