वर्ड हिन्दू कांग्रेस सम्मेलन में मंथन हुआ इतिहास का.. शर्मिला टैगोर और मंसूर अली खान का निकाह बताया गया “लव जिहाद” जिनके वंशज है सैफ अली और तैमूर

विश्व हिन्दू कांग्रेस में हिस्सा लेने के लिए सुदर्शन टीवी के चेयरमैन तथा राष्ट्र निर्माण संस्था के अध्यक्ष श्री सुरेश चव्हाणके जी अमेरिका पहुँच चुके हैं जहाँ उनका भव्य स्वागत हुआ है . यहाँ दुनिया के तमाम हिन्दू समूह एक हो रहे हैं जो पहली बार एक महासम्मेलन का रूप ले रहा है . गौरतलब है कि शिकागो में विश्व धर्म संसद में स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक भाषण के 125 वर्ष पूरे होने के अवसर पर दूसरे विश्व हिंदू सम्मलेन का अायोजन किया जा रहा है. विश्व हिन्दू कांग्रेस का ये आयोजन 7 सितंबर से शुरू हो कर 9 सितंबर तक किया जायेगा जिसमें 80 देशों के 250 से ज्यादा वक्ता तथा 2500 से ज्यादा हिंदुत्व के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं . इस सम्मेलन में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत जी मुख्य वक्ता होंगे तथा भारत की उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू भी शामिल हैं . .

अब उसी वर्ड हिन्दू कांग्रेस में मंथन हो रहा है इतिहास पर जहाँ से विकृत किया गया इतिहास को . वर्ल्ड हिंदू कांग्रेस की दूसरी बैठक के दौरान शर्मिला टैगोर और नवाब पटौदी की शादी को लव जिहाद का एक बड़ा उदाहरण बताया गया है . कई वर्ष पहले की बात है ये जब फ़िल्मी अदाकारा शर्मिला टैगोर ने उस समय के क्रिकेटर नवाब पटौदी से निकाह किया था . जबकि इस कार्यक्रम के दौरान कहा गया कि शादी के बाद शर्मिला टैगोर को धर्म परिवर्तन करना पड़ा और इस्लाम कबूल करना पड़ा। इस दौरान ये भी कहा गया कि उनको अपना नाम बदलकर आयशा बेगम सुल्ताना करना पड़ा। साथ ही ये भी कहा गया कि इनके बच्चों का अरबी नाम रखा गया और इनका पालनपोषण उसी के अनुरूप किया गया।

ध्यान देने योग्य ये है की उसी परम्परा को आगे बढाते हुए बाद में सैफ अली खान ने भी हिन्दू लड़की अमृता सिंह और उसके बाद करीना कपूर से निकाह किया . इतना ही नहीं सैफ और करीना की सन्तान का नाम भी उस तैमूर के नाम पर रखा गया है जो भारत के लाखों हिन्दुओ के नरसंहार के लिए और कई महिलाओं के बलात्कार के लिए आज भी एक खौफनाक नाम के रूप में लिया जाता है .  बंगाली परिवार में जन्मी शर्मिला टैगोर ने साल 1969 में नवाब पटौदी से शादी की थी और इस्लाम अपना लिया था लेकिन हिन्दुओ में उनकी फ़िल्में देखी जाती रहें इसके चलते वो शर्मिला टैगोर के नाम से ही जानी जाती रहीं।

अमेरिका के शिकागो में इसी मामले पर गहन चिंतन होते हुए इस मुद्दे पर दिलीप अमीन कहते हैं कि उन्होंने सालों तक रोमांटिक लव क्यों किया?उन्होंने आगे सवाल किया कि  क्या ये कुरान में जायज है? उन्होंने कहा कि शर्मिला ने अपनी मर्जी से इस्लाम कबूल किया या फिर केवल शादी करने को लेकर ऐसा करना पड़ा? दिलीप अमीन कहते हैं कि अगर उस धर्म में आपकी आस्था है तो आप उसे स्वीकार करें लेकिन केवल शादी के लिए ऐसा करना गलत है। इस कार्यक्रम में ये भी सवाल उठा कि क्या सैफ की पत्नी करीना कपूर ने भी धर्म परिवर्तन किया है? क्या उनका बेटा तैमूर हिंदूत्व को सामने लाएगा? शिकागो में बोले इसी सम्मलेन में बोलते हुए राष्ट्रीय स्वय सेवक संघ के प्रमुख श्री मोहन भागवत जी ने  दुनिया भर के हिंदुओं को एकजुट होने की जरूरत पर बल देते हुए कहा की इस समय हिंदुत्व कई अन्तराष्ट्रीय चुनौतियों से जूझ रहा है जिसका सामना सामूहिक शक्ति से ही सम्भव है . 

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *