Breaking News:

उधर थी मुम्बई 26 / 11 आतंकी हमले की पहली बरसी, इधर उसी दिन केजरीवाल लांच कर रहे थे अपनी पार्टी.. ये महज एक संयोग या सोची समझी तारीख

आज उस घटना को बीते 7 वर्ष हो गए लेकिन घाव ज्यो के त्यों हैं .. इस दिन देश ने न सिर्फ अनगिनत निर्दोष जनता को खोया था बल्कि कई विदेशी भी आतंक के उस काले साये का शिकार हो गए थे. उस समय ताज होटल से ले कर लेओपोर्ड कैफे तक जो खूनी खेल पाकिस्तान परस्त आतंकियों ने खेला था वो आज भी किसी के रोंगटे खड़े कर देने के लिए काफी है ..26 / 11 के बाद 26 नवम्बर देश के लिये एक उस दिन के समान हो गया था जिस दिन पूरा देश न सिर्फ देश की निर्दोष जनता बल्कि विदेशी मेहमानों के साथ साथ वीरगति को प्राप्त हुए कई जांबाज़ पुलिसकर्मियों व सैन्य अधिकारियों के बलिदान को नम आंखों से याद करने वाला दिवस बन गया था ..

इस दिन अगर कोई जश्न मना रहा था तो वो थे पाकिस्तान में बैठे आतंक के वो आका जो भारत में बहता लहू देख कर अपनी मज़हबी उन्मादी बातों को सबसे बड़ा मान कर खिलखिला रहे थे.. लेकिन जब ठीक 1 साल बाद पूरे जोर से भारत के चुनावों में उतरने को आतुर भारत की पुलिस को ठुल्ला बताने वाली, बटला हाउस के आतंकियों की पैरवी करने वाली, अर्बन नक्सल के समर्थन में खड़ी होने वाली पार्टी एक स्वघोषित ईमानदार के नेतृत्व में जश्न मनाते हुए लांच हुई तो एक बार जनता सोच में पड़ गयी थी कि क्या यही दिन मिला पार्टी लांच करने के लिए जब राष्ट्र शोकाकुल है अपने दिवंगत जवानों , विदेशी मेहमानों व निर्दोष जनता के लिए ..?

पार्टी को लांच करना कोई साधारण बात नही, यकीनन इसके पीछे दिन, समय, तिथि आदि बहुत मायने रखते थे.. इतना तो तय है कि अरविंद केजरीवाल व उनकी टीम ने बहुत सोच समझ कर ये तिथि रखी होगी .. कुछ जानकारों का कहना है कि केजरीवाल को कम से कम 1 दिन का इंतज़ार और करना था, वो भी 2012 इस क्रूरतम नरसंहार की पहली बरसी थी ..आज भी आम आदमी पार्टी के नेताओ के ट्वीट आदि देख कर जाना जा सकता है कि उनका फोकस देश मे हुए इस क्रूरतम नरसंहार की श्रद्धांजलि देने के बजाय खुद के साथ अपने समर्थकों का ध्यान अपनी पार्टी की लांचिंग पर फोकस करवाना है ..अरविंद केजरीवाल ने भी इस सम्बंध में एक ट्वीट किया है और अपनी पार्टी की उपलब्धियां गिनाई हैं .. यकीनन इस घटना के पीछे क्या उद्देश्य है इसको केजरीवाल बेहतर ढंग से जानते होंगे लेकिन समय और तिथि ने इस देश मे बहुत मामलों को उजागर करने व कई मामलो को दबा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है ..

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *