एयर स्ट्राइक के बाद अब वाटर स्ट्राइक .. भारत ने पाकिस्तान जाने वाला सतलुज नदी का पानी रोका

पाकिस्तान के खिलाफ उपजे आक्रोश को अब जनता ही नहीं बल्कि भारत की सरकार में भी देखने को मिल रहा है . वो सब कुछ कदम उठाये जा रहे हैं जो पाकिस्तान के खिलाफ अब तक किसी भी भारतीय राजनेता या सत्ता ने नहीं उठाये थे . नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जहाँ भारत सरकार ने सबसे पहले पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है तो वहीँ अब एक और कदम उठा कर पाकिस्तान को बूँद बूँद पानी के लिए तरसाने का फैसला किया है .

ज्ञात हो कि अभी पाकिस्तान टमाटर के लिए तरस रहा है तो अब उसके पानी के लिए भी तरसने के दिन आ रहे हैं . भारत की थल सेना ने सबसे पहले सर्जिकल स्ट्राइक की तो उसके बाद भारत की वायुसेना ने उसी पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक कर दी जिसको पाकिस्तान ने खुद ही माना और दुनिया एक कई देशो से शिकायत आदि करता रहा . लेकिन अब भारत ने बढ़ाया है एक और कदम पाकिस्तान के खिलाफ जिसके बाद पाकिस्तान में मच गया है हाहाकार .

ज्ञात हो कि पाकिस्तान के पानी की आपूर्ति का एक बड़ा हिस्सा भारत के अन्दर से बहने वाली सतलुज नदी पूरा करती थी जिसको कई युद्धों के बाद भी भारत की किसी अन्य सरकार ने नहीं रोका था . उसके पीछे तमाम आंतरिक कारण गिनाए गये थे और कई बार इसको अन्तराष्ट्रीय दबाव के चलते भी नहीं किया गया बताया गया लेकिन इस बार नरेन्द्र मोदी सरकार ने कड़ा कदम उठाते हुए सतलुज नदी का पानी पाकिस्तान जाने से रोकने का निर्णय किया है . भारत की संपदा पर आश्रित होने के बाद भी भारत के खिलाफ आतंकी भेजते पाकिस्तान को अब यकीनन एहसास होगा कि भारत से दुश्मनी उसके लिए कितनी भारी पड़ रही है . फिलहाल कुछ वामपंथी नेताओं को छोड़ कर भारत की आम जनता नरेन्द्र मोदी सरकार के इस फैसले के साथ खड़ी होती दिख रही है और पाकिस्तान में मोदी सरकार और मोदी के खिलाफ जबर्दस्त आक्रोश फैलता देखा जा रहा है .

Share This Post