भारत के हिन्दुओ को आये दिन उन्मादी और असहिष्णु बताने वाली बॉलीवुड अदाकारा ऋचा चड्ढा की विदेश में बेइज्जती

इनके ट्विट इनके सोच और इनकी मानसिकता के गवाह हैं . इन्होने जिस प्रकार से हिंदुत्व और हिन्दुओ को बार बार निशाना बनाया उस से यही लगता है कि इनकी नजर में इस पृथ्वी पर गौ रक्षा और गौ सेवा कोई बड़ा पाप है . लेकिन आख़िरकार इनको विदेश की धरती पर ये एहसास जरूर हुआ होगा कि जो शांति भारत में है और जो सहिष्णुता हिन्दुओ में है वो कहीं नहीं है और उनके लिए भारत में अधिकतर हिन्दुओ के द्वारा दिया गया तथाकथित स्टार का दर्जा शायद किसी और देश में अस्तित्व नहीं रखता है . ये चर्चा हो रही है अपने कैरियर के बजाय अपने नाम को हिंदुत्व का विरोध करते हुए चमका कर एक वर्ग के अन्दर ही शोहरत बटोर रही अदाकारा रिचा चड्ढा की .

अभी हाल ही में ऋचा ने ट्वीटर पर एक पोस्ट किया जिसमें ऋचा ने अपने साथ हुई सभी चीजों का ब्यौरा दिया बता दे ये बात जॉर्जिया की है जहां ऋचा को रंग को लेकर बेइज्जत किया गया ऋचा ने अपने पोस्ट में लिखा- ‘जॉर्जिया से निकलते वक्त एयरपोर्ट के पासपोर्ट कंट्रोल सेक्शन पर मुझे एक रेसिस्ट ऑफिसर मिलीं उन्होंने मेरे पासपोर्ट को दो बार अपनी डेस्क पर जोर से फेंका और अपनी भाषा में वह मुझे कुछ बोलीं। ये वही ट्विटर है जिस पर उन्होंने हिंदुत्व और हिन्दू को लगातार अपमानित करने का एक प्रकार से ठेका जैसा ले लिया था . इतना ही नहीं , कुछ दिन पहले इन्होने सेना तक के खिलाफ बेहद आपत्तिजनक शब्द बोले थे .

ऋचा ने कहा- इतना ही नहीं, उन्होंने जोर से चिल्लाते हुए मुझसे कहा कि तुरंत यहां से दफा हो जाओ। मुझे दु:ख हुआ कि जॉर्जिया से निकलते वक्त जो आखिरी शख्स मिला वह यह ऑफिसर थीं।’ साल 2009 में शाहरुख खान ने बताय था कि उन्हें भी ऐयरपोर्ट पर नस्लीय भेदभाव का शिकार होना पड़ा था जिसके कारण वहां के अधिकारियों ने करीब 2 घंटे तक उन्हें वहां बैठाए रखा था।साथ ही प्रियंका को भी विदेशी गलियारों में अपने रंग को लेकर काफी खरी खोटी सुननी पड़ी थी।

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *