16 जनवरी- हिंदवी सम्राज्य के स्वप्न के साथ भगवा ध्वज लहराते व जय भवानी के उद्घोष संग आज ही हुआ था छत्रपति शंभूराजे महराज का राजतिलक

वो महान योद्धा जो टुकड़ो टुकड़ो में कट जाए पर धर्म को न त्यागे , वो गौरवगाथा जो तमाम मुगल

Read more

15 जनवरी- राष्ट्र कृतज्ञता व्यक्त कर रहा अपने रक्षकों के प्रति आज “थल सेना दिवस” के अवसर पर.. “जय हिंद की सेना”

ये दिन है वर्दी वाले उन फरिश्तों को समर्पित जिनकी भुजाओं के दम पर राष्ट्र की शक्ति का आंकलन हम

Read more

प्रकाश पर्व: नमन है उन गुरु गोविन्द सिंह जी को, जिन्होंने मुग़ल आक्रान्ताओं से लड़ने को नारा दिया था “सवा लाख से एक लड़ाऊं”

“सवा लाख ते एक लड़ाऊं, तबै गुरु गोबिंद सिंह नाम कहाऊं”… ये महज एक पंक्ति ही नहीं, अन्याय के खिलाफ वह आवाज

Read more

12 जनवरी – स्वामी विवेकानंद जयंती.. सनातन धर्म के वो स्तंभ जिनका उद्घोष आज भी गूंजता है कि – ” गर्व से कहो हम हिंदू हैं”

जिस महान व्यक्तित्व की आज जयंती है वो आज भी जीवंत हैं अपने विचारो के साथ . उनका नाम स्वामी

Read more

10 जनवरी- पुण्यतिथि, जस्टिस राधा विनोद पाल जिन्हें जापान पूजता है भगवान की तरह.. 377, 497 प्रेमी व श्रीराम मंदिर, पैलेट गन विरोधी माननीय ध्यान दें

इंसान अपने जीवन काल मे कितना भी शक्तिशाली क्यों न हो पर संसार से जाने के बाद वो जाना जाता

Read more

4 जनवरी- शांति के प्रतीक और आतंक के दुश्मन विराथू जैसे देशभक्तों के देश म्यन्मार को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

ये वो देश है जिसने दुनिया को एक नई हिम्मत दी है आतंक के आगे खड़े हो कर उसका माकूल

Read more

2 जनवरी – लंबी गुलामी के बाद स्वतंत्र हुए स्पेन में आज ही हुआ था “अंतिम मुसलमान के ईसाई बन जाने या देश छोड़ देने का आदेश”

वो तमाम ज़ुल्म, तमाम अत्याचार जो कभी भारत वालों ने सहा था , ठीक वही जुल्म और वही अत्याचार स्पेन

Read more

31 दिसंबर- 88% मुस्लिम आबादी वाले इंडोनेशिया को आज मिली थी मान्यता. वो इंडोनेशिया जिसके कभी शासक थे श्रीविजय, शैलेन्द्र, संजय, माताराम और सिंह श्री

अन्तराष्ट्रीय स्तर के कुछ इतिहासकारों के लिए इंडोनेशिया का इतिहास मात्र आज से शुरू होता है जब उसने इटली के

Read more

25 दिसंबर – तुष्टिकरण के अंधेरे के खिलाफ भारत की प्रथम किरण श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जयंती. सदा गूंजेगा आपका “गगन में लहरता है भगवा हमारा” का उदघोष

वो आवाज जो आज भी गूंज जाती है कानो में, वो नाम जो सदा ध्रुव तारे की तरह अटल रहेगा

Read more

18 दिसंबर – 1961 में आज ही पुर्तगाल को खदेड़ कर गोवा को भारत में फिर से शामिल किया था भारत की सेना ने.. 30 पुर्तगालियों को मार कर 4600 को बंदी बनाने वाले 22 बलिदानियों को बारंबार नमन

ये वो बलिदानी हैं जिन्होंने कश्मीर को अपने रक्त से सींचा है और उसको भारत का मुकुट बनाये हुए हैं

Read more